Today Click 748

Total Click 3683670

Date 22-06-18

मनोरंजन

देश

 

खेल

 

वीडियो

संपादकीय

मुंगेरीलाल के सपने और नीति आयोग

नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की चौथी बैठक रविवार को संपन्न हुई। प्रधानमंत्री के साथ 24 मुख्यमंत्री जिस बैठक में शामिल हों, उसमें देश के कई जरूरी मुद्दों पर नीतियां, योजनाएं बनाई जा सकती थीं या कम से कम उनकी रूपरेखा तैयार हो सकती थी। लेकिन अफसोस कि इस मंच से भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने मन की ही…

विस्तार से देखें

दिल्ली का संकट और केंद्र-राज्य संबंधों का सवाल

बेशक, इन चार सालों में नवउदारवादी नीतियों के बुलडोजर तले राज्यों के अधिकारों को और खोखला किए जाने के सिलसिले को नयी ऊंचाई पर पहुंचा दिया गया है। इसका सबसे बड़ा सबूत है, राज्यों के कराधान के अधिकार को ही खत्म करने वाली जीएसटी व्यवस्था का लागू किया जाना है। इसके ऊपर से, मौजूदा सरकार ने इन चार सालों में…

विस्तार से देखें

यातना नहीं, सुधार की जगह बने जेलें

न शराब, न सिगरेट तंबाकू और न ही किसी तरह का वायरल पीलिया (हेपेटाइटिस) संक्रमण, फिर भी दर्दे-जिगर। जिगर की जकड़न और कैंसर भी, अर्ध चिकित्सकीय भाषा में लिवर (यकृत) फाइब्रोसिस और फैटी लिवर। कैंसर हो या फाइब्रोसिस इसकी शुरुआत होती है फैटी लिवर से, मतलब जिगर में शोथ,—आम लोगों के लिए डाक्टरों की भाषा में लिवर बढ़ गया। विशेषज्ञों…

विस्तार से देखें

मोदी की हत्या की साजिश और राजनीति

भीमा कोरेगांव हिंसा के बाद दलित अस्मिता का उठा सवाल अब माओवादियों की नीयत और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा के सवाल में बदल चुका है। इस साल की शुरुआत में महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव में भड़की हिंसा के सिलसिले में महाराष्ट्र पुलिस ने दलित कार्यकर्ता सुधीर धावले, वकील सुरेंद्र गाडलिंग, मानवाधिकार कार्यकर्ता महेश राउत, शोमा सेन और रोना विलसन…

विस्तार से देखें