Breaking News

Today Click 2008

Total Click 3591842

Date 22-02-18

संस्‍कारी पहलाज निहलानी की फिल्‍मों के गाने इतने असंस्‍कारी क्‍यों

By Mantralayanews :06-09-2017 07:39


फिल्‍म सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्‍यक्ष पहलाज निहलानी एक बार फिर से सुर्खियों में छा गए। दरअसल पहलाज बोल्‍ड मूवी 'जूली 2' के ड्रिस्‍टीब्‍यूटर हैं। यही पहलाज एक समय सेंसर बोर्ड के चीफ रहते हुए दूसरे निर्देशकों की फिल्‍मों में खूब कट लगाया करते थे। आपको बता दें कि 90 के दशक में पहलाज ने कई फिल्‍में प्रोड्यूस की जि

1. जूली 2 :
फिल्‍म प्रोड्यूसर पहलाज निहलानी इस बार एक्‍ट्रेस राई लक्ष्‍मी को बोल्‍ड लुक में दर्शकों के सामने ला रहे हैं। सेंसर बोर्ड चीफ रहते हुए सभी को संस्‍कार का पाठ पढ़ाने वाले पहलाज फिल्‍म 'जूली 2' के डिस्‍ट्रिब्‍यूटर बन गए हैं। यह फिल्‍म काफी बोल्‍ड है, इसमें कई एडल्‍ट सींस भी हैं। यानी कि जब अपनी फिल्‍म की बारी आई, तो पहलाज का संस्‍कारी ज्ञान गायब हो गया। वैसे पहले भी उनकी फिल्‍मों के गानों में डबल मीनिंग शब्‍द इस्‍तेमाल किए गए हैं।


2. फिल्‍म 'अंदाज' :
साल 1994 में आई फिल्‍म अंदाज में मुख्‍य रोल में अनिल कपूर और करिश्‍मा कपूर थीं। इस फिल्‍म के निर्माता पहलाज निहलानी थे और उन्‍होंने फिल्‍म के अंदर कई डबल मीनिंग वाले गाने डलवाए। जिसमें कि एक 'खड़ा है, खड़ा है' था। जबकि दूसरा 'रोज करेंगे हम करेंगे...कू..कू..कू' हालांकि यह गाने फिल्‍म के सीन के हिसाब से फिल्‍माए गए हैं लेकिन इनके दूसरे मतलब भी निकलते हैं।

3. फिल्‍म 'आंखें' :
साल 1993 में रिलीज हुई फिल्‍म 'आंखे' बॉक्‍स ऑफिस पर जबर्दस्‍त हिट हुई थी। फिल्‍म में गोविंदा और चंकी पांडे मुख्‍य भूमिका में थे। इस फिल्‍म के निर्माता भी पहलाज ही थे। उन्‍होंने इस फिल्‍म में भी द्विअर्थी शब्‍दों वाले गाने चलवाए। जिसमें कि एक 'खेत गए बाबा, बाजार गई मां अकेली हूं घर में तू आजा बालमा' वहीं दूसरा गाना था 'लाल दुपट्टे वाली' जिसमें हीरोइन अपनी स्‍कर्ट हिलाकर गाती है कि 'हर किसी के लिए ये खिड़की नहीं खुलती'
 

Source:Agency