Breaking News

Today Click 157

Total Click 3275653

Date 20-09-17

योजना शुरू होने के सालभर बाद नक्सल इलाकों में पहुंची रसोई गैस

By Mantralayanews :07-09-2017 08:57


रायपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी उज्जवला गैस योजना साल भर बाद सुदूर नक्सल इलाकों में भी पहुंच गई है। दरअसल, प्रदेश में उज्जवला योजना के तहत मार्च 2018 तक 25 लाख कनेक्शन बांटे जाने हैं। दूरस्थ इलाकों में भंडारण की व्यवस्था न होने से योजना के क्रियान्वयन में दिक्कत आ रही थी लेकिन अब जंगलों में गैस गोदामों का निर्माण पूरा हो गया है।

प्रदेश के धुर नक्सल इलाकों में बने 38 गैस गोदामों में हाल ही में सिलेंडरों की पहली खेप पहुंची है। बस्तर जिले के करपावंड में 45 और बीजापुर जिले के नैमेड़ में 32, कुटरू और बारसूर में 76 नए कनेक्शन भी बांटे जा चुके हैं। संवेदनशील इलाकों में बने गैस गोदामों में पहली खेप में 15 सौ कनेक्शन बांटे जाने हैं।

सरकार ने दी थी स्वीकृति

राज्य सरकार ने सुदूर गांवों में गैस वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित करने लिए 50 गोदाम बनाने की स्वीकृति दी थी। इनमें से 48 गोदाम बन चुके हैं और 2 गोदाम निर्माणाधीन हैं। नक्सल इलाकों में भारी सुरक्षा के बीच गैस की सप्लाई की जा रही है। गोदामों की सुरक्षा के भी इंतजाम किए गए हैं।

खाद्य विभाग के अफसरों ने बताया कि 38 गोदामों के लिए विस्फोटक लाइसेंस सहित दूसरी औपचारिकताएं भी पूरी हो चुकी हैं। बाकी 12 गोदामों के लिए कागजी कार्रवाई भी चल रही है। इसी महीने तैयार हो चुके अन्य 10 गोदामों में भी सप्लाई की जाएगी।

यह गोदाम ऐसे इलाकों में बनाए गए हैं, जहां राशन की सप्लाई भी सुरक्षा के बिना संभव नहीं है। दोरनापाल, कोंटा, चिन्नाकी बोडला, महासमुंद के सिरपुर, कसडोल के बया, बलरामपुर में पस्ता आदि कुल 19 जिलों में ये 38 गैस गोदाम बनाए गए हैं।

फैक्ट फाइल-

- राज्य में कुल कनेक्शन का लक्ष्य- मार्च 2018 तक 25 लाख

- अब तक बांटे गए कनेक्शन-14.67 लाख

- सुदूर इलाकों में भेजे गए सिलेंडर- 15 सौ

- अंदरूनी इलाकों में बने गोदाम- 48

- नक्सल इलाकों में बंटेंगे- 15 सौ कनेक्शन

- सुदूर इलाकों में गैस कनेक्शन की पहली खेप भेज दी गई है। वहां उज्जवला गैस योजना का शुभारंभ भी हो चुका है। पहली खेप में 15 सौ कनेक्शन दिए जाने हैं। - ऋचा शर्मा, सचिव खाद्य विभाग, छत्तीसगढ़
 

Source:Agency