Breaking News

Today Click 3522

Total Click 3281043

Date 21-09-17

कागजों में उद्योग जमीन पर शोरूम

By Mantralayanews :07-09-2017 09:14


भोपाल.. औद्योगिक क्षेत्र गोविंदपुरा में जमीन तो उद्योग के लिए दी गई थी ताकि लोगों को रोजगार मिल सके, लेकिन यहां पर अब शोरूम खुल गए हैं।  इससे रोजगार की संख्या तो घटी ही है सरकार का रेवन्यू भी घट गया है। पूर्व में उद्योग विभाग के कुछ अफसरों की मिलीभगत से ऐसा हुआ है। फिलहाल यह मामला कोर्ट में चल रहा है। अब एक बार फिर नए तरीके से लिस्ट बनाकर इन मामलों में कार्रवाई की जा रही है।
ऐसे हो रहा है फर्जीवाड़ा
औद्योगिक क्षेत्र में विकसित करने के लिए लीज पर जमीन दी जाती है। इस जमीन पर सिर्फ उघोग लगाने की इजाजत मिलती है, लेकिन गोविंदपुरा में लीज पर जमीन पर नियम विरुद्ध तरीके से मकान, दुकान, गोदाम और शोरूम बन चुके हैं। इसे हटाने के लिए प्रशासन की तरफ से अब तक कवायद नहीं की गई है। यहां अधिकतर औधोगिक क्षेत्र की जमीन पर आॅटोमोबाईल शोरूम का कब्जा है। दो साल की समय सीमा के भीतर उद्योग स्थापित नहीं करने वाले लोगों का भू-आवंटन निरस्त नहीं किया जा रहा है । इसकी वजह से औद्योगिक क्षेत्र में यूनिट लगाने के इच्छुक उद्यमियों को रिक्त भूमि नहीं मिल रही है ,शेष फर्मों ने जमीन सुरिक्षत करने के लिए इस पर कब्जा कर लिया है।
स्थानीय उद्यमियों को नहीं मिल रही जमीन
इन्द्रपुरी में रहने वाले नागरिक कमलेश शर्मा का कहना है कि गोविन्द्रपुरा क्षेत्र में औद्योगिक क्षेत्र विकसित होने के बाद भी क्षेत्र की 70 प्रतिशत जमीनों पर अब तक कोई यूनिट नहीं लगाई गई है। औद्योगिकी केन्द्र विकास निगम के अधिकारी द्वारा उचित जानकारी नहीं दी जाती है। अधिकारियों द्वारा जमीन पहले से ही आवंटित होना बताकर स्थानीय उद्यमियों को टरका दिया जाता है। इससे इन उद्यमियों को उद्योग स्थापित करने का अवसर नहीं मिल रहा है। जबकि ऐसे अधिकतर उद्योग की जमीन पर रसूखदारों ने शोरूम खोल रखे हुए हैं, जो अवैध संचालित हो रहे हैं।
रसूखदारों को दी जमीन
एक उद्यमी ने बताया कि औद्योगिक केन्द्र द्वारा ज्यादातर प्रभावशाली लोगों को ही जमीन आवंटित की गई है। अब ऐसे आवंटित जमीनों पर नियमानुसार समय-सीमा में उद्योग स्थापित नहीं होने के बाद भी आवंटन रद्द करने की कार्रवाई नहीं की जा रह है। इससे उद्यमियों को रोजगार के अवसर नहीं मिल रहे हैं। जमीन को आॅनलाइन आवेदन लॉटरी पद्धती से आवंटित करना चाहिए, ताकि रसूख लोग इसका गलत इस्तेमाल न करे।

Source:Agency