Breaking News

Today Click 141

Total Click 3275637

Date 20-09-17

रायपुर की इस भूल-भुलैया से निकलना नहीं होगा आसान

By Mantralayanews :08-09-2017 10:16


रायपुर। मोतीबाग उद्यान में भूल-भुलैया का सिविल वर्क पूरा हो चुका है। 2 महीने के भीतर इसके अंदर रोपे गए पौधे 7-8 फीट तक बढ़ जाएंगे और फिर यह आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। दूसरी तरफ इससे ही लगे हिस्से में पंप-ट्रैक बनकर तैयार है।

मनोरंजन के ये 2 बड़े प्रोजेक्ट स्मार्ट सिटी के हैं तो वहीं आनंद समाज वाचनालय का काम भी 75 फीसदी पूरा हो चुका है। शहर के बीचोबीच स्थित शहीद स्मारक को स्मार्ट सिटी लिमिटेड और लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) मिलकर विकसित कर रहे हैं।

स्मार्ट सिटी बाहरी हिस्से को, जबकि पीडब्ल्यूडी इंटरनल डिवेलपमेंट करेगी। खास बात यह है कि स्मारक के अंदर मंच, कुर्सियां, फ्लोरिंग, एयर कुलिंग सिस्टम सब कुछ बदलेगा। मंच में ऑटोमेटिक पर्दा लगेगा। साउंड, लाइट सिस्टम इंडोर स्टेडियम जैसा होगा। बाहरी क्षेत्र में टेरिस्ट गार्डन, लैंड स्केपिंग, चारों तरफ पार्किंग की व्यवस्था पर भी टेंडर होगा।

देश के 500 स्मार्ट शहरों की सूची में शामिल रायपुर में बीते 12 महीने से प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है, जो इस साल के अंत तक दिखाई देने भी लगेगा। 'नईदुनिया' टीम गुरुवार को मोतीबाग पहुंची, जहां की ये पहली तस्वीरे हैं। शहर को सुरक्षा देने वाला प्रोजेक्ट इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) का टेंडर खुल चुका है तो वहीं सप्रे शाला मैदान में बन रहा हेल्दी हार्ट ट्रैक अगले महीने तक पूरा हो जाएगा।

कहां, कितनी लागत से कौन से प्रोजेक्ट पर चल रहा काम

1- आनंद समाज लाइब्रेरी नवीनीकरण

लागत- 66.63 लाख रुपए। - काम की मौजूदा स्थिति- 75 फीसदी

2- मोतीबाग में हेज-मेज, पंप ट्रैक-

लागत- 230 लाख रुपए। - काम की मौजूदा स्थिति- 100 फीसदी (सिविल वर्क)

3- स्मार्ट रोड-

लागत- 6 करोड़ रुपए। - काम की मौजूदा स्थिति- 9 सड़क को चिह्तिं कर लिया गया है, टेंडर प्रक्रियाधीन।

4- ऑक्सी रीडिंग जोन-

लागत- 7.50 करोड़ रुपए। काम की मौजूद स्थिति- संस्कृति कॉलेज के सामने निर्माण शुरू हुआ है और सालभर में होगा पूरा।

5- साइकिल ट्रैक

लागत- 1.20 करोड रुपए। काम की मौजूद स्थिति- गौरवपथ में 4.5 किमी लंबे ट्रैक, टेंडर हो चुका है।

आईटीएमएस पर सबकी निगाहें- इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। एलएंडटी कंपनी ने 157 करोड़ रुपए निविदा भरी, जो एल-1 थी। हालांकि अभी वर्क-ऑर्डर जारी नहीं किया गया है, क्योंकि इस पर अंतिम मुहर बोर्ड लगेगा। इस प्रोजेक्ट के तहत शहरभर में 250 कैमरे लगेंगे। शहर के अंदर आने वाले सभी हाइवे पर स्पीड डिटेक्टर लगेंगे। जयस्तंभ चौक स्थित मल्टीलेवल पार्किंग के ऊपर इसके कंट्रोल रूम का निर्माण जारी है।

साल के अंत तक काफी कुछ दिखाई देने लगेगा

साल, डेढ़ साल से जिन प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहे हैं वे पूरे होने जा रहे हैं। आईटीएमएस का टेंडर खुल चुका है, बहुत जल्द वर्कऑर्डर जारी किया जाएगा। साइकिल ट्रैक में टेंडर प्रक्रिया जारी है। साल के अंतः तक काफी कुछ दिखाई देने लगेगा। - रजत बंसल, डॉयरेक्टर, रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड

Source:Agency