Breaking News

Today Click 1670

Total Click 3277166

Date 20-09-17

जनधन मे खुले 30 करोड़ बैंक खाते,जीरो बैलेंस अकाउंट घटकर 20% हुए: जेटली

By Mantralayanews :13-09-2017 08:32


नई दिल्‍ली.  फाइनेंस मिनिस्‍टर अरुण जेटली ने बुधवार को बताया कि जनधन योजना के तहत देशभर में 30 करोड़ अकाउंट खोले जा चुके हैं। इसमें से जीरो बैलेंस अकाउंट की संख्‍या तीन साल में 77% से घटकर 20% पर आ गई है। यूनाइटेड नेशंस के फाइनेंशियल इन्‍क्‍लूजन कॉन्‍क्‍लेव में बुधवार को जेटली ने कहा कि जनधन के तहत सबसे ज्यादा अकाउंट उन लोगों के खुले हैं, जिनके पास अभी तक बैंकिंग सुविधाएं नहीं पहुंच पाई थीं।  99.99% घरों में एक बैंक अकाउंट है... 
 
- अरुण जेटली ने बताया कि जनधन योजना से पहले करीब 42% हाउसहोल्‍ड के पास बैंकिंग सुविधा नहीं थी। ऐसे लोगों के लिए सभी कॉमर्शियल बैंकों में जीरो बैलेंस अकाउंट खोलने की सुविधा इस स्‍कीम के जरिए शुरू की गई।
- जनधन स्‍कीम के लॉन्‍च के तीन महीने बाद सितंबर 2014 में 76.81% अकाउंट जीरो बैलेंस पर थे। यह तादाद अब घटकर 20% पर आ गई है। जनधन योजना की ही देन है कि करीब 99.99% हाउसहोल्‍ड के पास कम से कम एक बैंक अकाउंट है। 
नोटबंदी से बढ़ा टैक्‍स बेस और रेवेन्‍यू
- फाइनेंस मिनिस्‍ट अरुण जेटली ने कहा कि नोटबंदी का नतीजा यह रहा कि इससे टैक्‍स बेस बढ़ा है। कैश कम हुआ है और इकोनॉमी अधिक फॉर्मल हुई है। नोटबंदी के बाद से भारतीय सोसायटी में कैश लेनदेन में कमी आई है। 
आधार एक प्रोग्रेसिव आइडिया
- जेटली ने कहा कि बायोमीट्रिक आईडेंटिफिकेशन नंबर आधार को पिछली यूपीए सरकार ने कानूनी सपोर्ट नहीं दिया। जब आधार को लाया गया था तो इसकी पूरी क्षमता का इस्‍तेमाल नहीं किया गया। आधार आगे ले जाना वाला विचार है। उन्‍होंने कहा, ''आधार कानून बीजेपी के वक्त में पास हुआ और मुझे पूरा भरोसा है कि आधार कानून संविधान की कसौटी पर खरा उतरेगा।'' 
 

Source:Agency