Breaking News

Today Click 184

Total Click 3678351

Date 18-06-18

अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज की मान्यता पर लटकी तलवार

By Mantralayanews :14-09-2017 08:30


रायपुर। अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज को सत्र 2017-18 में एमबीबीएस की 100 सीट पर मान्यता नहीं मिली, यह सत्र जीरो ईयर हो गया।हालांकि मान्यता के लिए स्वास्थ्य विभाग से लेकर स्वास्थ्य मंत्री तक ने एड़ी- चोटी का जोर लगाया। एमसीआई ने जिन कमियों को गिनाया, मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने उन कमियों को दूर कर एक बार फिर से मान्यता के लिए आवेदन किया।

बीते दिनों एमसीआई टीम पहुंची, लेकिन उन्हें यहां सीनियर रेसीडेंट (एसआर),जूनियर रेसीडेंट (जेआर) तो मानक संख्या से कम मिले, फैकल्टी भी गैर हाजिर थे। एमसीआई की गोपनीय रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। निरीक्षण के बाद एमसीआई डीन को रिपोर्ट देकर जाती है।

सूत्र बताते हैं कि 4 फैकल्टी निरीक्षण के दौरान रायपुर में थे, इन्हें डीन ने कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। अगर यही हाल रहा तो आगामी सत्र के लिए भी मान्यता में तलवार लटक सकती है।

हालांकि अभी एमसीआई की एग्जीक्यूटिव कमेटी में यह रिपोर्ट रखी जाएगी और फिर अंतिम निर्णय होगा। उधर प्राथमिक रिपोर्ट से ही हड़कंप मच गया है। चिकित्सा शिक्षा संचालक (डीएमई) डॉ. अशोक चंद्राकर बुधवार को ही अंबिकापुर रवाना हो गए तो प्रमुख सचिव सुब्रत साहू गुरूवार को जा रहे हैं। स्पष्ट है कि गैरहाजिर रहने वाली डॉक्टर्स पर कार्रवाई हो सकती है।

अभी कुछ नहीं कह सकता

जब तक एमसीआई की एग्जीक्यूटिव बॉडी में निर्णय नहीं हो जाता तब तक कुछ नहीं कहा जा सकता है। हां, यह सच है कि डॉक्टर्स निरीक्षण के दौरान मौजूद नहीं थे,उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। - डॉ. पीएम लूका, डीन, मेडिकल कॉलेज अंबिकापुर
 

Source:Agency