Breaking News

Today Click 204

Total Click 3418195

Date 23-11-17

चुनौतियों के बाद भी मजबूती से टिकी है माइक्रोसॉफ्ट : सत्य नाडेला

By Mantralayanews :08-11-2017 07:03


अवसर और चुनौतियां दोनों को लेकर नजरिया स्पष्ट होना चाहिए। एलन जो कह रहे हैं उसे मैं हलके में नहीं ले रहा हूं, लेकिन मेरा मानना है कि अगर हम चुनौतियों को बढ़ा-चढ़ा कर बताते हैं तो अवसर का लाभ उठाने में चूक जाते हैं। आप ने कहा है कि दूसरे की परेशानी समझने की शक्ति किसी भी कंपनी के आदर्शों में शामिल होनी चाहिए। यह कैसे काम करता है? 

दूसरों की दिक्कतें समझने की शक्ति हासिल करना रातोरात संभव नहीं है। सबसे पहले आपको इसे अपने आदर्शों में शामिल करना होगा। हमारा काम उन लक्ष्यों को हासिल करना हैं। बिना लोगों की जरूरत और परेशानी समझे नवाचार की दिशा में आगे नहीं बढ़ा जा सकता है। नए लोगों को रखने के समय मैं इसका ध्यान रखता हूं कि अगर किसी उम्मीदवार को लगता है कि वह अच्छा है तो माइक्रोसॉफ्ट उसके  लिए उचित स्थान नहीं है। उस उम्मीदवार में दूसरों को बेहतर बनाने का माद्दा  होना चाहिए। 

मैं स्पष्ट कर दूं कि सभी चुनौतियों पर टिप्पणी करने की विशेषज्ञता मुझमें नहीं है। हां, इतना जरूर कह सकता हूं कि पहचान सुनिश्चित करने का डिजिटल माध्यम लेनदेन समस्या का समाधान करने या इस पर लागत कम करने में मददगार साबित हो सकता है। मेरी नजर में यह अहम बात है। 

माइक्रोसॉफ्ट की बात करें तो हम पिछले 43 सालों से अस्तित्व में हैं। मैं पिछले 25 वर्षों से कंपनी से जुड़ा हूं और हर पांच साल बाद हमें नई चुनौतियों से जूझना पड़ता है। हालांकि  इन बाधाओं के बावजूद हम मजबूती से टिके हैं। 
 

Source:Agency