Breaking News

Today Click 343

Total Click 3533455

Date 22-01-18

अगले साल से सभी स्कूलों में ऑनलाइन बंटेंगी RTE की सीटें

By Mantralayanews :08-11-2017 07:25


रायपुर। अगले साल से राज्य के सभी निजी स्कूलों में शिक्षा के अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत सीटों का बंटवारा पारदर्शी ऑनलाइन सिस्टम से होगा। इसके लिए राज्य सरकार ने दिल्ली की एक गैर सरकारी संगठन इंडस से अनुबंध किया है।

यह संस्था सभी निजी स्कूलों में नर्सरी अथवा पहली कक्षा की 25 प्रतिशत सीट का ऑनलाइन डेटाबेस तैयार करेगी, जिसके आधार पर आवंटन किया जाएगा। इस तरह आरटीई की सीटें ऑनलाइन बांटने के मामले में दिल्ली के बाद छत्तीसगढ़ दूसरा राज्य होगा।

ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया होने के बाद ऑनलाइन आधार कार्ड नंबर के जरिए शिक्षा विभाग आरटीई के तहत प्रवेश लेने वाले बच्चों की मॉनिटरिंग भी कर सकेगा। किस स्कूल को आरटीई के प्रतिपूर्ति में कितना भुगतान किया जा रहा है, इसकी जानकारी भी ऑनलाइन ही मिलेगी। गौरतलब है कि राज्य के कुल 61 हजार स्कूलों में से 11 हजार से अधिक निजी हैं। इनमें आरटीई की सीटों की संख्या 45 हजार से अधिक है।

ऐसे बांटेंगे सीट

आरटीई के तहत बच्चों का आवेदन ऑनलाइन आने के बाद ऑटोमेटिक सभी को रजिस्ट्रेशन नंबर दिया जाएगा। इसमें यदि पालकों का मोबाइल नंबर होगा तो पल-पल की जानकारी उनको मैसेज से मिलेगी। ऑटोमेटिक सिस्टम अपडेट होने के बाद एक साथ सभी को सीट एलॉट कर दी जाएगी।

नहीं छुपा सकेंगे सीट

अब आरटीई में ऑनलाइन डेटाबेस होने पर अब निजी स्कूलों को सभी बच्चों की जानकारी देनी होगी। इससे ऑटोमेटिक 25 प्रतिशत सीट आरटीई के लिए आरक्षित हो जाएगी। इससे वे सीट नहीं छिपा सकेंगे। राजधानी में ही कुछ बड़े रसूखदार स्कूलों के खिलाफ आरटीई के तहत सीटें छिपाने की शिकायत आ चुकी है।

पालक कर सकेंगे ऑनलाइन आवेदन

16 लाख से अधिक बीपीएल परिवार के पालकों को अपने बच्चे के दाखिले के लिए अब स्कूलों में लाइन लगाने की जरूरत नहीं होगी। वे अपने मोबाइल या नजदीकी साइबर कैफे में जाकर अपने निवास स्थान से 3 से 5 किलोमीटर के दायरे में आने वाले स्कूलों में ऑनलाइन ऑप्शन भर सकेंगे। कुल 5 स्कूलों का ऑप्शन देने के बाद लॉटरी के जरिए किसी भी स्कूल में सीट आवंटित कर दी जाएगी।

रायपुर ने दिया प्रदेश के लिए आदर्श मॉडल

आरटीई के तहत ऑनलाइन प्रक्रिया करने का आदर्श मॉडल रायपुर के कलेक्टर ओपी चौधरी और जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारा ने दिया है। इस नवाचार को मुख्यमंत्री तक प्रशंसा कर चुके हैं। लिहाजा स्कूल शिक्षा विभाग अब इसे अगले सत्र 2018-19 से सभी स्कूलों में लागू करने का निर्णय लिया है।

अगले साल से सभी स्कूलों में लागू

आरटीई के तहत सीट बांटने की प्रक्रिया अब सभी निजी स्कूलों में ऑनलाइन हो जाएगी। इसके लिए इंडस से अनुबंध किया जा रहा है। - विकास शील, सचिव, स्कूल शिक्षा
 

Source:Agency