Breaking News

Today Click 424

Total Click 3405288

Date 20-11-17

मानव प्रेम के आधार पर देहदान की परंपरा डालें भारतीय : राष्ट्रपति

By Mantralayanews :11-11-2017 08:32


भोपाल। संत कबीर प्रकटोत्सव में उपस्थित हजारों लोगों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कबीरदास का उदाहरण देते हुए कहा कि अंधविश्वास को खत्म करना ही सही मायनों में आधुनिकता है।

उन्होंने कहा कि बनारस में देह त्यागकर मोक्ष पाने के अंधविश्वास को कबीरदास ने ही तोड़ा। ऐसे ही समाज में व्याप्त तमाम अंधविश्वासों को खत्म करना चाहिए। संत कबीर ने समाज के कई बंधनों को तोड़ा था। राष्ट्रपति के तौर पर पहली बार मप्र आए कोविंद ने कहा कि कबीर का मप्र से गहरा नाता रहा है। कबीर के समावेशी सिद्धांतों पर ही मप्र में शिवराज सिंह चौहान की सरकार समावेशी विकास के आधार पर काम कर रही है।

मप्र की लाड़ली लक्ष्मी योजना की तारीफ करते हुए कोविंद ने कहा कि प्रदेश के बच्चे शिवराज को मामा कहते हैं, इसलिए शिवराज का यह कर्तव्य है कि वे लाड़लियों की सुरक्षा का ध्यान रखें। इसीलिए उन्होंने लाड़ली लक्ष्मी योजना शुरू की। इसके साथ ही कोविंद ने प्रदेश की आर्थिक और कृषि क्षेत्र में तरक्की की भी तारीफ की।

देहदान और अंगदान की अपील

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कबीर प्रकटोत्सव को संबोधित करते हुए देशवासियों से अपील की कि देहदान और अंगदान की एक परंपरा शुरू की जाए। उन्होंने कहा कि कई बार एक अंग न मिलने से लोगों को जीवन से हाथ धोना पड़ता है, इसलिए कोशिश करें कि हमारा शरीर मृत्यु के बाद भी किसी के काम आ सके। उन्होंने इस संबंध में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता नानाजी देशमुख का भी उदाहरण दिया।

झलकारी बाई की प्रतिमा का अनावरण

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरू तेगबहादुर काम्पलेक्स में रानी लक्ष्मी बाई की सहयोगी झलकारी बाई की प्रतिमा का अनावरण भी किया। झलकारी बाई 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के दौरान रानी लक्ष्मी बाई की विशेष सलाहकार थीं।

तीर्थ दर्शन योजना में शामिल होंगे संत कबीर से जुड़े तीर्थ

कबीर प्रकटोत्सव को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की कि प्रदेश के दो विश्वविद्यालयों में कबीर सृजन पीठ की स्थापना की जाएगी। इसके साथ ही संत कबीर की जन्म स्थली और उनसे जुड़े अन्य महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल को मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में शामिल किया जाएगा।

इसके अलावा कबीर भजन मंडलियों को इकतारा वाद्य यंत्र खरीदने के लिए सरकार सहयोग करेगी। वहीं बांधवगढ़ स्थित कबीर गुफा का विकास किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले चार साल में अनुसूचित जाति सहित सभी वर्ग के गरीब लोग कच्चे मकान में नहीं रहेंगे। सभी को पक्के मकान दिए जाएंगे। कार्यक्रम में राष्ट्रपति की पत्नी सविता कोविंद, राज्यपाल ओपी कोहली, मुख्यमंत्री की पत्नी साधना सिंह, मंत्री गोपाल भार्गव, लाल सिंह आर्य, विश्वास सारंग, सुरेंद्र पटवा भी मौजूद थे
 

Source:Agency