Breaking News

Today Click 69

Total Click 3446332

Date 11-12-17

राज्य पुलिस में आएगी डीआईजी रैंक के अफसरों की बाढ़

By Mantralayanews :05-12-2017 07:16


रायपुर। नए साल में राज्य की पुलिस व्यवस्था में बड़े बदलाव के संकेत नजर आ रहे हैं। सबसे बड़ी वजह अफसरों की बड़ी संख्या में पदोन्नति है। सबसे पहले विभाग के सबसे बड़े पद डीजी स्तर पर अफसरों की संख्या चार से बढ़कर छह हो जाएगी। रैंक के लिहाज से अफसरों की सबसे ज्यादा संख्या डीआईजी (अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक) स्तर पर बढ़ेगी। 2004 बैच के एक दर्जन अफसर इस रैंक पर पदोन्नति का इंतजार कर रहे हैं। सभी की पदोन्नति हुई तो कैडर में इस रैंक के अफसरों की संख्या सीधे 17 पहुंच जाएगी। इसी वजह से राज्य में डीआईजी रेंज और बड़े जिलों में एसएसपी की पदस्थापना की रणनीति बन रही है।

मुख्यालय में खपाए जाएंगे ज्यादातर अफसर

पुलिस अफसरों के अनुसार पदोन्नत होने वाले ज्यादातर डीआईजी पुलिस मुख्यालय में ही खपाए जाएंगे। वैसे भी यहां आईजी रैंक पर अफसरों की कमी है। कैडर में कुल 9 आईजी हैं, इनमें से दो प्रतिनियुक्ति पर हैं। बाकी सात में से पांच रेंज में हैं। इनमें भी एक पीएस गौतम इस महीने सेवानिवृत्त हो जाएंगे। इसी वजह से पीएचक्यू में शाखाओं की कमान डीजी और एडीजी के अधीन डीआईजी को सौंपा जा सकता है।

अभी तीन डीआईजी रेंज

राज्य में अभी डीआईजी रेंज के तीन पद स्वीकृत हैं। इनमें कांकेर और दंतेवाड़ा में ही अफसर पदस्थ हैं। राजनांदगांव खाली है। इसे देखते हुए सरकार रायगढ़ पांचों रेंज में एक-दो डीआईजी रेंज की स्थापना कर सकती है।

इन जिलों में बैठ सकते हैं एसएसपी

डीआईजी की संख्या बढ़ने पर रायपुर के अलावा बिलासपुर और दुर्ग जिले में एसएसपी की पदस्थापना की जा सकती है। इन जिलों में पहले एसएसपी पदस्थ भी रहे हैं।

एक सेवानिवृत्त फिर भी छह डीजी

राज्य पुलिस में दूसरे नंबर के वरिष्ठ अफसर डीजी एमडब्ल्यू अंसारी इसी महीने सेवानिवृत्त हो जाएंगे। ऐसे में राज्य पुलिस में डीजी रैंक के अफसरों की संख्या तीन हो जाएगी। इस पद पर एक एडीजी की पदोन्नति होगी। वहीं, सरकार ने दो और एडीजी रैंक के अफसरों को पदोन्नत करने का प्रस्ताव केंद्र को भेज रखा है।

राज्य पुलिस से भी आएंगे 13 अफसर

राज्य पुलिस के अफसरों के लिए भी 2018 अच्छा रहने वाला है। नए साल में राज्य पुलिस सेवा के कम से कम 13 अफसर आईपीएस बनेंगे। इसमें 10 पद कैडर रिव्यू के बाद बढ़े हैं, जबकि तीन पद अफसरों की सेवानिवृत्त से खाली हो रहे हैं।
 

Source:Agency