Breaking News

Today Click 87

Total Click 3446350

Date 11-12-17

बैंक सेंधमारी में उत्तर भारत गैंग का हाथ, लोकल लिंक की तलाश तेज

By Mantralayanews :07-12-2017 07:17


रायपुर। विधानसभा इलाके में मांढर स्टेट बैंक के 13 लॉकरों को काटकर 5 करोड़ 12 लाख 55 हजार रुपए के जेवर और नकदी उड़ाने वाले डकैतों का सुराग मिलने का दावा पुलिस कर रही है। इसका आधार सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए दो डकैतों की तस्वीर को बताया जा रहा है।

पुलिस का दावा है कि लोकल लिंक की मदद से उत्तर भारत के डकैतों ने वारदात को अंजाम दिया है। पिछले दिनों धनेली बायपास के पास झाड़ियों में छिपाकर रखे गए लॉकर काटने के औजार मिलने के बाद पुलिस ने आसपास के इलाकों की सर्चिंग की और सीसीटीवी कैमरे को खंगाला तो दो संदिग्धों की तस्वीर हाथ लगी।

ये तस्वीर बैंक में मिले डकैतों के फुटेज से मेल खा रही है। अफसरों की मानें तो जांच में मिले क्लू के आधार पर पुलिस टीम ने संभावित स्थानों पर डेरा डाल दिया है। बहुत जल्द डकैत पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि प्रदेश की सबसे बड़ी सेंधमारी के तुरंत बाद बाहरी गैंग छत्तीसगढ़ सीमा से निकलने में कामयाब रहा, हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि डकैत किस साधन से फरार हुए। बैंक तक पहुंचने और रेकी करने में चारपहिया वाहन के इस्तेमाल होने की संभावना जताई जा रही है।

गैंग ने लोकल लिंक से यह साधन लिया होगा, इसकी पूरी संभावना है। वहीं लॉकर काटने के लिए इस्तेमाल में लाए गए सारे औजार राजधानी और आउटर के इलाके से खरीदने का खुलासा पहले ही हो चुका है। पुलिस उस दुकान तक भी पहुंच गई है। दुकानदार से पूछताछ में उत्तर भारत गैंग के वारदात के हाथ होने के ठोस क्लू मिले हैं।

छापेमारी में नहीं लगे हाथ

डकैतों की तलाश में चार राज्यों की खाक छानने के बाद तीन राज्यों से पुलिस टीम खाली हाथ लौट चुकी है। अब पुलिस का सारा ध्यान उत्तर भारत गैंग पर जाकर टिक गई है।

खबर है कि एक दो संभावित ठिकानों पर छापेमारी भी की गई, लेकिन गैंग का एक भी सदस्य हाथ नहीं आया, लिहाजा पुलिस टीम लगातार कैंप कर गैंग को दबोचने में जुटी है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि घटना को तीन से चार डकैतों ने अंजाम दिया है। इनमें से तीन के फुटेज पुलिस के हाथ लग चुके हैं।

बैंक में उत्तर भारत गैंग ने सेंधमारी की है। ठोस क्लू मिलने के बाद पुलिस टीमें डकैतों की तलाश में संभावित ठिकानों पर भेजी गई हैं। जल्द ही गैंग पकड़ा जाएगा। - विजय अग्रवाल, एएसपी सिटी
 

Source:Agency