Breaking News

Today Click 635

Total Click 3948374

Date 18-10-18

नये अवतार में लौट रही है एंबेसडर कार...!

By Mantralayanews :05-01-2018 07:13


एक समय देश की सबसे पसंदीदा गाड़ी रही एंबेसडर कार सड़कों पर दोबारा लौटने जा रही है. बाजार में नयी-नयी कंपनियों द्वारा पेश की गयी सस्ती और ज्यादा माइलेज देनेवाली कारों का बोलबाला होने से हिंदुस्तान मोटर्स को कुछ वर्ष पहले एंबेसडर का उत्पादन बंद करना पड़ा था. ज्यादा नहीं, दो दशक पहले तक सरकारी रोब और रुतबे का प्रतीक रही एंबेसडर कार नये अवतार में लौट रही है. ऐसे में जिन लोगों की यह कार खरीदने की हसरत अधूरी रह गयी थी, उनके लिए इसे पाने का मौका फिर हाथ लग सकता है.
जी हां, खबर है कि फ्रांस की ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरिंग कंपनी पीएसए ग्रुप भारत में जल्द अपना ऑपरेशंस शुरू करनेवाला है. बताते चलें कि पीएसए ग्रुप के खाते में पुजॉ, सिथॉएन और डीएस जैसे बड़े ब्रांड्स हैं. इस ग्रुप ने भारत में एंबेसडर ब्रांड को फरवरी 2017 में 80 करोड़ में खरीदा था. इसके लिए पीएसए ने सीके बिड़ला ग्रुप के साथ 50-50 की साझेदारी की है. इसके बाद पिछले साल नवंबर में पीएसए और सीके बिड़ला ग्रुप ने तमिलनाडु के होसुर में अपने पावरट्रेन प्लांट की शुरुआत की.
मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक, इस साझेदारी के तहत गाड़ी और पावरट्रेन मैन्युफैक्चरिंग प्लांट्स में 700 करोड़ रुपये का निवेश होना है.
बताया जाता है कि इस पावरट्रेन प्लांट की शुरुआती उत्पादन क्षमता लगभग 2 लाख यूनिट प्रति वर्ष होगी. होसुर स्थित इस प्लांट के अगले साल 2019 तक चालू होने की संभावना है और गाड़ियां साल 2020 में सड़कों पर आ जायेंगी.
फिलहाल, कंपनी का फोकस हैचबैक और मिडसाइज सेडान कारों के उत्पादन पर होगा. इस मार्केट में जमे रहने के लिए कंपनी को मारुति सुजुकी और हुंदै से कड़ा मुकाबला करना होगा.
बात करें एंबेसडर कार के इतिहास की, तो मॉरिस ऑक्सफॉर्ड की डिजाइन पर आधारित यह गाड़ी सबसे पहले वर्ष 1958 में पेश की गयी थी. देखते ही देखते इसने देश में अपनी खास जगह बना ली. उदारीकरण से पहले के दौर तक यह कार भारत की सबसे पसंदीदा कार बन चुकी थी. फ्रांस की पीएसए ग्रुप का नयी सेडान पेश कर एंबेसडर के प्रति लोगों के भावनात्मक जुड़ाव को भुनाने का इरादा है.

Source:Agency