Breaking News

Today Click 41

Total Click 3654457

Date 24-05-18

कश्मीरियों की हिफाजत के लिए मोदी सरकार खर्च करेगी 416 करोड़ रुपए

By Mantralayanews :05-04-2018 08:04


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में आए दिन पाकिस्तान की नापाक हरकतें सामने आती रहती हैं। पाकिस्तानी रेंजर्स आए दिन बॉर्डर पर सीजफायर का उल्लंघन करते हैं। पाकिस्तानी गोलबारी में भारतीय चौकियों को निशाना बनाया जाता है। ऐसे में हमारे जवानों को तो नुकसान पहुंचता ही है, बल्कि बॉर्डर से सटे गांवों में रह रहे लोग भी गोलीबारी का शिकार हो जाते हैं। गोलीबारी में स्थानीय लोगों की अक्सर मौत हो जाती है। सरकार ने अब इस समस्या का समाधान निकाल लिया है।

कश्मीर के इन इलाकों में बनेंगे 13029 बंकर
केंद्र सरकार ने बॉर्डर से सटे इलाकों में ऐसे बंकरों के निर्माण का प्लान बनाया है, जिनमें फायरिंग के दौरान आम नागरिकों को छिपाया जा सकेगा। भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर में सीमा के पास वाले ऐसे पांच शहरों को हाईलाइट किया है, जहां 13029 बंकर बनाए जाएंगे। जिन पांच इलाकों में ये बंकर बनेंगे उनमें सांबा, पुंछ, जम्मू, कठुआ और राजौरी का नाम शामिल है। इन इलाकों में पाकिस्तान आए दिन सीजफायर तोड़ता है।

NBCC करेगी बॉर्डर पर बंकर का निर्माण
इसके अलावा 1431 लार्ज कम्युनिटी बंकर भी बनाए जाएंगे। हर एक लार्ज कम्युनिटी बंकर में तकरीबन 40 लोग रह सकेंगे। सीमा से सटे इन इलाकों में बंकर निर्माण की जिम्मेदारी जम्मू-कश्मीर की नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन (NBCC) को दी गई है। यह सभी बंकर पाकिस्तानी सीमा एलओसी से तकरीबन 3 किलोमीटर के दायरे में होंगे।

हर बंकर तकरीबन 160 वर्गफुट का होगा, जिसमे 8-10 लोग आराम से रुक सकते हैं, जबकि कम्युनिटी बंकर में तकरीबन 40 लोग रह सकते हैं।

2017 में 15 जवान और 12 स्थानीय लोगों की गई थी जान
आपको बता दें कि बॉर्डर से सटे इन इलाकों में जब-जब पाकिस्तान गोलीबारी करता है, तब-तब आम नागरिकों के मारे जाने की खबरें आती हैं। 2017 में पाकिस्तानी गोलीबारी में सेना के 15 जवान और 4 बीएसएफ के जवान सीमा पर शहीद हो गए थे। जबकि 12 स्थानीय लोगों की भी इसमे जान चली गई थी। वहीं 79 लोग सीमा पार फायरिंग से घायल हो गए थे। इसे देखते हुए सरकार ने इन बंकर्स को बनवाने का फैसला लिया है।

केंद्र सरकार ने NBCC को दिए 416 करोड़ रुपए
केंद्र सरकार की इस पूरी योजना के लिए करीब 416 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार की तरफ से एनबीसीसी को 416 करोड़ रुपए का अमाउंट दिया जा चुका है। यह बंकर्स आरसीसी के बनाएं जाएंगे, इसके लिए ट्रैक्ट्रर, क्रेन आदि का इस्तेमाल किया जाएगा। एनबीसीसी के चेयरमैन और एमडी एके मित्तल ने बताया कि हम इस योजना को कुछ इस तरह से शुरू करेंगे कि 2-3 दिन में एक बंकर बनकर तैयार हो जाए। सबसे अधिक बंकर राजौरी जिले में बनाए जाएंगे।

किन इलाकों में कितने बंकर का होगा निर्माण
कहां बनेंगे कितने बंकर सांबा में कुल 2515 बंकर बनाए जाएंगे, जबकि 8 कम्युनिटी बंकर बनाए जाएंगे। वहीं जम्मू में 1200 बंकर और 120 कम्युनिटी बंकर, राजौरी में 4918 बंकर और 372 कम्युनिटी बंकरक, कठुआ में 3076 बंकर बनाए जाएंगे। पुंछ में सबसे अधिक कम्युनिटी बंकर बनाए जाएंगे, यहां 699 कम्युनिटी बंकर बनाए जाएंगे, जबकि व्यक्तिगत बंकर 1320 बनाए जाएंगे।
 

Source:Agency