Breaking News

Today Click 750

Total Click 3725012

Date 15-07-18

किदांबी श्रीकांत का दुनिया का नंबर 1 खिलाड़ी बनना तय

By Mantralayanews :10-04-2018 07:45


भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत का दुनिया का नंबर एक खिलाड़ी बनना तय हो गया है। 25 वर्षीय यह खिलाड़ी पिछले साल चोट के कारण यह मुकाम हासिल करने से चूक गया था। लेकिन गुरुवार को जब बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन अपनी साप्ताहिक रैंकिंग जारी करेगा तो श्रीकांत पहले पायदान पर पहुंच चुके होंगे।
बीते साल उनके शानदार प्रदर्शन के लिए इस साल फरवरी में श्रीकांत को टाइम्स ऑफ इंडिया स्पोर्ट्स अवॉर्ड (TOISA) में स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द इयर से नवाजा गया था। श्रीकांत आधुनिक युग में इस मुकाम पर पहुंचने वाले भारत के पहले पुरुष खिलाड़ी होंगे। महिलाओं के वर्ग में साइना नेहवाल मार्च 2015 में दुनिया की पहले नंबर की खिलाड़ी बन चुकी हैं। 

कंप्यूराइज्ड रैंकिंग सिस्टम लागू होने से पहले प्रकाश पादुकोण 1980 में चोटी के तीन टूर्नमेंट जीतने के बाद नंबर वन खिलाड़ी बने थे। सोमवार को भारत को कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जितवाने में अहम भूमिका निभाने वाले श्रीकांत 76895 अंकों के साथ रैंकिंग में टॉप पर पहुंच जाएंगे। 

मौजूदा नंबर वन और वर्ल्ड चैंपियन डेनमार्क के विक्टर एक्सलसन के फिलहाल 77130 अंक हैं लेकिन वह 1660 अंक खो देंगे और शीर्ष पायदान से हट जाएंगे। एक्सलसन को मलयेशिया ओपन की तारीख में बदलाव होने से भी यह नुकसान झेलना पड़ा है। वह बीते साल के चैंपियन हैं लेकिन इस बार उन्हें तय समयावधि में अपने खिताब की रक्षा का मौका नहीं मिलेगा। 

मलयेशिया ओपन बीते साल 4 से 9 अप्रैल के बीच हुआ था लेकिन इस बार यह बाद में होगा। बैडमिंटन रैंकिंग 52 हफ्तों के समय के हिसाब से तय होती है। इस समयावधि में खेले गए टॉप 10 टूर्नमेंट के अंकों का आकलन किया जाता है। 

स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (साई) में बैडमिंटन विश्लेषक मोहम्मद मकदूम अहमद ने कहा, 'हम बेसब्री से इस लम्हे का इंतजार कर रहे हैं। वह बीते साल ही नंबर एक बन जाते लेकिन चोट के कारण साल के अंत में कुछ टूर्नमेंट नहीं खेल पाए थे। अगर वह उन टूर्नमेंट के क्वॉर्टर फाइनल तक भी पहुंच जाते तो वह नंबर 1 खिलाड़ी बन जाते। हालांकि श्रीकांत को कोई अंक नहीं मिलेगा लेकिन एक्सलसन के 1660 अंक खोना भी भारतीय खिलाड़ी के लिए फायदेमंद होगा।' 

श्रीकांत ने 2017 में चार सुपर सीरीज - इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क, फ्रांस- खिताब जीते। वह दुनिया में ऐसा करने वाले सिर्फ चौथे खिलाड़ी थे। 2 नवंबर 2017 को वह दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी भी बने। 

श्रीकांत के पिता केवीएस कृष्णा ने कहा कि वे सब इस लम्हे का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा, 'वह हफ्ते-दो हफ्ते में नंबर एक खिलाड़ी बन जाएगा। यह हम सबके लिए गर्व का क्षण है।' 

Source:Agency