Breaking News

Today Click 80

Total Click 3654496

Date 24-05-18

मई में भारत से विशेष रक्षा तकनीकी साझा करेगा अमेरिका

By Mantralayanews :12-04-2018 06:24


सामरिक दृष्टि से भारत की सैन्य ताकत को और बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की ओर से एक बड़ा ऐलान किया गया है। अमेरिका ने मई में होने वाली एक महत्वपूर्ण बैठक के बाद भारत के साथ कई महत्वपूर्ण रक्षा तकनीकों को साझा करने का महत्वपूर्ण ऐलान लिया है। इन तकनीकों के स्थानांतरण के बाद भारत में हाईटेक लड़ाकू विमानों के निर्माण की एक सुनियोजित प्रणाली को विकसित किया जा सकेगा, जिससे कि देश को सामरिक दृष्टि से काफी मजबूती मिलेगी।
इस संबंध में ऐलान करते हुए भारत में अमेरिका के राजदूत केनेथ जस्टर ने कहा कि दोनों देशों के दो-दो प्रतिनिधि मई महीने में एक उच्च स्तरीय बैठक करेंगे, जिसके बाद इस रक्षा तकनीकी को भारत को स्थानांतरित किया जाएगा। चेन्नै में आयोजित डिफेंस एक्सपो-2018 के दौरान रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की मौजूदगी में लोगों को संबोधित करते हुए जस्टर ने कहा कि अमेरिका भारत को अपने सबसे महत्वपूर्ण साझेदारों में से एक मानता है और दोनों देश मिलकर पूरी दुनिया को एक खास संदेश दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध बहुत प्रगाढ़ हैं और यह कुछ रिश्ता काफी लंबे समय तक बना रहने वाला है। 
भारत में होगा अत्याधुनिक लड़ाकू विमानों का निर्माण 
जस्टर ने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच रिश्तों को और मजबूत बनाने के लिए दोनों देशों के बीच रक्षा तकनीकी को लेकर एक महत्वपूर्ण समझौता होने जा रहा है जिसके लिए मई में दोनों मुल्कों के 2-2 प्रतिनिधि आपस में मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा कि इस बैठक में हुए निर्णय के आधार पर अमेरिका भारत से कई विशेष रक्षा तकनीकी साझा करेगा। जस्टर ने कहा इन तकनीकों के स्थानांतरण के बाद भारतीय कंपनियां देश में ही हाईटेक लड़ाकू विमानों का निर्माण कर सकेंगी जिससे कि भारतीय वायुसेना को भी काफी मजबूती मिल सकेगी। माना जा रहा है कि अमेरिका से लड़ाकू विमानों के निर्माण की तकनीकी मिलने के बाद देश में एफ-16 जैसे हाईटेक लड़ाकू विमानों के निर्माण का रास्ता साफ हो सकेगा जिससे कि एयरफोर्स को काफी मजबूती भी मिल सकेगी। 

Source:Agency