Breaking News

Today Click 1062

Total Click 4040310

Date 14-12-18

आसमान से सेना रखेगी PM मोदी पर नजर, जमीं पर होंगे स्पेशल कमांडो

By Mantralayanews :12-04-2018 07:48


बीजापुर। पीएम मोदी के 14 अप्रैल के प्रवास को लेकर सुरक्षा तैयारियां अपने अंतिम चरण में हैं। पीएम की सुरक्षा के लिए विशेष दस्ता पहुंच चुका है। हेलीपैड व मंच तो दूर बीजापुर के आसमान से लेकर धरती तक चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है। वहीं करीबसात हजार से अधिक जवानों को जांगला और आसपास के पंद्रह किलोमीटर इलाके में शिफ्ट कर दिया गया है।

चप्पा-चप्पा सुरक्षा बलों की सीधी नजर और निगरानी में है। पीएम प्रोग्राम के दौरान जहां आसमान पर हथियारों से लैस सेना के जवान मोदी और उनके कार्यक्रम पर नजर रखेंगे वहीं जमीं पर स्पेशल कमांडो और एनएसजी कमांडो के साथ नक्सल अभियान में पारंगत डीआरजी और एसटीएफ के जवान सुरक्षा की कमान सम्भालेंगे।

यही नहीं मोदी के कार्यक्रम और हर गतिविधि को कैद करने जांगला के सभा स्थल और मुख्य मार्ग पर करीब तीन दर्जन सीसी टीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं जिसके चलते पूरा कार्यक्रम तीसरी आँख की निगरानी में होगा ताकि सुरक्षा में कोई चूक न हो सके।

सुरक्षा को लेकर सतर्कता का आलम यह है कि राज्य के आला अधिकारियों को भी पूरी जानकारी नहीं दी जा रही है। उनसे सूचनाएँ ली जा रही हैं और फिर सीधे निर्देश जारी किए जा रहे हैं।

यात्रा को लेकर क्या इंतजाम हैं, इसे लेकर सच यही है कि मीडिया के पास केवल सुनी सुनाई बातें हैं क्योंकि सुरक्षा को लेकर हर घंटे नए तकनीक नए तरीके क्रियान्वित हो रहे हैं और किसी को भी यह नहीं पता कि आखिर अंतिम रणनीति क्या है? वहीं यदि किसी को कुछ पता भी है तो उन्होंने मीडिया से चुप्पी साध ली है।

जो तैयरियां हैं वह यह संकेत देती हैं कि पीएम मोदी के आने के पहले से आसमान से निगरानी शुरु रहेगी, जमीन पर तो आलम यह है कि जांगला से पंद्रह किलोमीटर तक का पूरा इलाका ही सुरक्षाबलों के हवाले है।ड्रोन और सेना के करीब आधा दर्जन हेलीकॉप्टर अत्याधुनिक हथियारों से लैस होकर लगातार मँडराते रहेंगे।

पीएम जब हेलीपैड पर उतरेंगे तो उनके चॉपर के साथ साथ दो चॉपर मौजूद हो सकते हैं। हेलीपैड से मंच तक जाने के लिए दर्जनों बुलेटप्रूफ गाड़ियां लगाईं जाएंगी जिसके लिए बीजापुर में तीन और जांगला के एक खेत में तीन हेलीपेड का निर्माण किया गया है।

पीएम के आने में अब केवल तीन दिन ही शेष हैं। सुरक्षा चक्र को अभेद होना ही है। सुरक्षागत कारणों से मंच पर पीएम मोदी के साथ और कौन-कौन कितनी संख्या में मौजुद होगा, यह अंतिम दिन नहीं बल्कि अंतिम क्षण में तय होगा।
 

Source:Agency