Breaking News

Today Click 727

Total Click 3724989

Date 15-07-18

छत्तीसगढ़ में पांच साल में बनाए जाएंगे दो हजार सूर्य मित्र

By Mantralayanews :13-04-2018 07:39


रायपुर। छत्तीसगढ़ में अगले पांच साल के भीतर दो हजार सूर्य मित्र बनाए जाएंगे। केंद्र सरकार के नवीकृत अक्षय ऊर्जा मंत्रालय ने इस संबं में छत्तीसगढ़ सरकार को निर्देश जारी किया है। सूर्य मित्र योजना में युवाओं को सौर ऊर्जा के क्षेत्र में दक्ष कर रोजगार से जोड़ने की मुहिम चलाई जाएगी।

छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा प्राधिकरण के अफसरों ने बताया कि सूर्य मित्र योजना कौशल विकास की परियोजना है। इसमें युवाओं को सौर ऊर्जा के बारे में तकनीकी ज्ञान दिया जाएगा। सौर ऊर्जा का क्षेत्र तेजी से विकसित हो रहा है और इसमें रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। उन्हें सौर ऊर्जा पॉवर प्लांट लगाने, उसका मेंटेनेंस करने, उसे चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी।

सूर्य मित्रों के लिए भारत ही नहीं विदेशों में भी रोजगार के अवसर होंगे। सूर्य मित्र स्किल डवलपमेंट प्रोग्राम (एसएसडीपी) छह सौ घंटे का ट्रेनिंग कार्यक्रम है। इस ट्रेनिंग में हिस्सा लेने वाले युवा सोलर एनर्जी सेक्टर के नए उद्यमी कहे जाएंगे।

ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ उन 15 प्रदेशों में शामिल है जिसने ग्रिड कनेक्टेड सोलर एनर्जी के प्लांट लगाए हैं। पिछले साल अक्टूबर तक प्रदेश की छतों पर लगे सोलर पैनलों से 129.91 मेगावाट ऊर्जा का उत्पादन किया जा रहा था। यह क्षमता तेजी से बढ़ रही है। छत्तीसगढ़ के अलावा गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, केरल, मणिपुर, पंजाब, उत्तराखंड, राजस्थान, तमिलनाड़ु, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में रूफ टॉप सौर ऊर्जा प्लांट की परियोजनाएं चल रही हैं।

बैंकों से आसानी से मिलेगा लोन

सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए उद्यमियों को बैंकों से आसानी से लोन भी मिलेगा। रिजर्व बैंक ने सौर ऊर्जा सेक्टर को प्राथमिकता में रखा है और बैंकों को निर्देश दिया है कि सोलर प्लांट लगाने के लिए 15 करोड़ तक का ऋण स्वीकृत किया जाए। ग्रिड कनेक्टेट रूफ टॉप सोलर पैनलों को लगाने के लिए घरेलू उद्यमियों को भी 10 लाख तक का लोन दिया जाएगा।
 

Source:Agency