Breaking News

Today Click 2112

Total Click 3735875

Date 21-07-18

दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री भारत के लिए इस तरह होगी फायदेमंद

By Mantralayanews :11-07-2018 07:12


नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून-जे-इन ने 9 जुलाई को नोएडा में दुनिया के सबसे बड़े मोबाइल प्लांट का उद्घाटन किया। सैमसंग के इस प्लांट में मोबाइल के अलावा टीवी-फ्रीज जैसे अन्य इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स भी बनाए जाएंगे। यह प्लांट भारत सरकार के मेक इन इंडिया कार्यक्रम का हिस्सा है। इस प्लांट से देश में रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे।

सबसे बड़ा स्मार्टफोन बाजार

इस समय भारत चीन के बाद दुनिया का सबसे बड़ा स्मार्टफोन मार्केट है। इस समय भारत में 400 मिलियन यानी की करीब 40 करोड़ स्मार्टफोन यूजर्स हैं। जबकि देश की कुल आबादी 130 करोड़ है। इसका मतलब साफ है कि भारत इस समय दुनिया का सबसे बड़ा स्मार्टफोन बाजार बन सकता है। IDC की रिपोर्ट के मुताबिक, 2017 में देश में करीब 124 मिलियन यानी 12.4 करोड़ मोबाइल की शिपमेंट हुई है।

'मेक इन इंडिया' को मिलेगा बढ़ावा

सैमसंग के इस प्लांट के लग जाने से दुनियाभर की अन्य कंपनियां भी भारत में अपने मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगा सकती हैं। जिससे केन्द्र सरकार के 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम को बढ़ावा मिलेगा। आपको बता दें कि सैमसंग के इस प्लांट में 4,915 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है।

फ्रीज-टीवी का उत्पादन होगा दोगुना

सैमसंग के इस प्लांट से मोबाइल के अलावा अन्य इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स के उत्पादन में भी बढ़ोतरी होगी। सैमसंग स्मार्टफोन के अलावा कई घरेलू इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद निर्माण करता है। इस प्लांट से इन सभी प्रोडक्ट्स के उत्पादन में भी वृद्धि देखी जा सकती है।

सस्ते होंगे मोबाइल फोन

इस प्लांट के लग जाने से मोबाइल फोन समेत कई इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स की कीमत कम हो सकती है। देश में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लग जाने से इन प्रोडक्ट्स पर एक्साइज ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी, जिसकी वजह से इनकी कीमत में कमी आएगी।

छोट कारोबारियों को होगा फायदा

मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लग जाने से छोटे एवं मझौले कारोबारियों को भी फायदा होगा। इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट्स में कई छोटे पार्ट्स लगे होते हैं, जिसे छोटे एवं मझौले कारोबारी बनाते हैं। सैमसंग के मोबाइल फोन यहीं एसेंबल किए जाएंगे, इनमें लगने वाले पार्ट्स को इन छोटे कारोबारियों से खरीदा जाएगा, जिनसे इनके व्यापार में भी बढ़ोतरी होगी।

रोजगार के अवसर

कंपनी के दावे के मुताबिक करीब 15,000 लोगों को प्लांट में रोजगार करने का अवसर मिलेगा। करीब 4 लाख लोगों को डायरेक्ट रोजगार के अवसर मिलेंगे। छोटे शहरों से लेकर गावों में 3 लाख से ज्यादा सर्विस सेंटर खोले जाएंगे। कंपनी के दावे के मुताबिक इस प्लांट से हर वर्ष 12 करोड़ मोबाइल फोन का उत्पादन किया जाएगा। प्लांट के 30 प्रतिशत उत्पाद को अन्य देशों में एक्सपोर्ट किए जाएंगे। 
 

Source:Agency