Breaking News

Today Click 114

Total Click 3797399

Date 22-08-18

कांवड़ियों का कार से तोड़फोड़: सिख ने कांवड़ियों से बचाया महिला को

By Mantralayanews :10-08-2018 07:04


मोतीनगर में मंगलवार को कांवड़ियों के हंगामे की घटना के बारे में पता चला है कि वहां मौजूद एक सिख युवक की समझदारी से बात ज्यादा बिगड़ने से बच गई थी। इस शख्स ने पहचान छिपाने की शर्त पर बताया कि वहां क्या-क्या हुआ था। किस तरह उसने कार में मौजूद महिला से तुरंत निकल जाने का आग्रह कर उन्हें बचाया। इसके लिए युवक को कांवड़ियों का गुस्सा भी झेलना पड़ा। एनबीटी ने उस दौरान कार चला रही युवती की दोस्त से भी बात की, जिसने पुलिस के इस बयान को गलत बताया कि कार ने पहले कांवड़िये को टक्कर मारी, फिर कांवड़िये को थप्पड़ भी मारा गया। इधर, पुलिस ने अज्ञात कांवड़ियों के खिलाफ रास्ता रोकने और गाड़ी को नुकसान पहुंचाने की धाराओं में FIR दर्ज की है। 

गगनदीप सिंह (बदला नाम) ने कहा,' कहां है वो औरत...कहां है वो औरत, ढूंढो उसे... कांवड़िए लगातार कह रहे थे।' यहां जिस कार पर कांवड़ियों के हमले के विडियो वायरल हो रहे हैं उसे एक युवती चला रही थी। जब उन्होंने कार पर बुरी तरह हमला किया तो वह युवती जान बचाने के लिए भाग गई थी। इस गुस्से भरी भीड़ से युवती को बचाने में हादसे के चश्मदीद सिख युवक ने अहम भूमिका निभाई। 

गगनदीप सिंह (बदला हुआ नाम) ने बताया कि उनकी कार महिला की कार के पीछे थी। यह 100 पर्सेंट नहीं बता सकता कि कार टच हुई उसके बाद जल गिरा या नहीं। उन्होंने कहा, 'बहस के बाद जब उन्होंने देखा कि एक कांवड़िए + ने महिला की कार के बोनट पर हाथ मारा तो वह बाहर निकलकर मदद करने के लिए आगे आए। तभी, एक नहीं, पीछे और आगे से कई कांवड़िए आ गए। सभी के हाथ में या तो हॉकी थी या तो बेसबॉल बैट। उन लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।' 

सिंह ने बताया कि मामले को उग्र होता देख मैंने ही महिला से आग्रह किया कि वह यहां से निकल जाए। महिला काफी घबरा गई थीं। उन्होंने मेरी बात मान ली और वहां से निकल गईं। इसके बाद देखते-देखते माहौल ऐसा बन गया जो सभी ने विडियो के जरिए देखा ही होगा। सिंह ने बताया कि कार में महिला का पर्स छूट गया था जो उन्होंने पुलिसवाले को दे दिया। वहीं बैक सीट पर एक स्कूल बैग भी पड़ा हुआ था। 

सिंह ने बताया, जब मैं मदद के लिए आगे बढ़ा तो कई लोगों ने बीच-बचाव करने पर मना किया। मैंने वही किया जो एक सिख को करना चाहिए।ट सिंह ने बताया का आखिर में ऐसे हालात हो गए थे कि वह लोग कहने लगे ‘सरदार ने महिला को भगा दिया।’ यह सुनकर काफी अजीब लगा। सभी कांवड़िए बौखलाए और कुछ तो मारपीट पर उतारू इधर-उधर घूम रहे थे। पुलिस + भी आई, लेकिन उनकी एक नहीं चली। वे सभी पुलिसवालों के सामने कार को बुरी तरह तोड़ते रहे। 
 

Source:Agency