Breaking News

Today Click 318

Total Click 3959252

Date 24-10-18

आदिवासी सम्मेलन : CM और शाह सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि शामिल हुए

By Mantralayanews :06-10-2018 07:47


मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और राज्य सभा संसद श्री अमित शाह सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के तहत आज उत्तर बस्तर (कांकेर) जिले के विकासखण्ड मुख्यालय नरहरपुर में आयोजित तेंदूपत्ता बोनस तिहार एवं आदिवासी सम्मेलन में शामिल हुए। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा विगत पांच सितम्बर से शुरू हुई थी, जिसका आज नरहरपुर में समारोहपूर्वक समापन हुआ। इस अवसर पर आयोजित बोनस तिहार और आदिवासी सम्मेलन में कांकेर जिले के 31 हजार 457 तंेदूपत्ता संग्राहकों को 18 करोड़ 91 लाख रूपये का बोनस वितरित किया गया। मुख्यमंत्री ने 22 करोड़ 39 लाख रूपये के विभिन्न 20 निर्माण कार्यांे का लोकार्पण और भूमिपूजन भी किया। इन कार्यों में से 16 करोड़ 76 लाख रूपये के 11 विकास कार्यों का लोकार्पण और 5 करोड़ 33 लाख 45 हजार रूपये के 9 विकास कार्यों का भूमिपूजन किया गया। कार्यक्रम में 4 हजार 600 से अधिक हितग्राहियों को 1 करोड़ 77 लाख रूपये की सामग्री और सहायता राशि का वितरण किया गया।
    मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने इस अवसर पर कहा कि बस्तर में चारों तरफ विकास दिख रहा है, मैं हमेशा कहता हॅू कि बस्तर करवट बदल रहा है। यहांॅ सड़कों का विस्तार हुआ है, रेल्वे कनेक्टिविटी से जुड़ रहा है, शिक्षा के क्षेत्र में बस्तर की पहचान बन रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य शासन द्वारा गरीबों के हित में अनेक कल्याणकारी योजना संचालित की जा रही है। एक रूपये किलो में चांवल और निःशुल्क दो किलो नमक दिया जा रहा है। आदिवासी क्षेत्रों में चना वितरण की व्यवस्था भी की गयी है। स्मार्ट कार्ड से 50 हजार रूपये तक निःशुल्क ईलाज की व्यवस्था किया गया है। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना अंतर्गत महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन प्रदाय की गई है। संचार क्रांति योजना के तहत् निःशुल्क मोबाईल फोन का वितरण महिलाओं एवं युवाओं को किया जा रहा है। राज्य शासन द्वारा 1 नवम्बर से धान खरीदी की व्यवस्था की गई है। धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर अब 2050 रूपये एवं 2070 रूपये प्रति क्विंटल में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार राज्य के सर्वांगीण विकास के लिए संकल्पित है, अभी जो भी विकास दिख रहा है, यह तो केवल शुरूआत है, आने वाले वर्षों में चार गुना ज्यादा विकास होगा।
    कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह ने कहा कि  पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने छत्तीसगढ़ राज्य बनाया तथा मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ को संवारने एवं विकसित करने का काम किया है। यहां चौबीस घण्टा बिजली मिल रही है, हर गांव सड़क संपर्क से जुड़ चुके हैं। वनवासियों को वन अधिकार पट्टा दिये गये हैं, तेंदुपत्ता संग्राहकों को बोनस वितरित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की सरकार ने छत्तीसगढ़ को नक्सलवाद के चंगुल से बाहर निकालकर विकास का रास्ता दिखाया है। डॉ. रमन सिंह ने वर्ष 2025 तक नवा छत्तीसगढ़ बनाने का संकल्प लिया है, उनके नेतृत्व में छत्तीसगढ़ ‘दिन दुगुनी रात चौगुनी’ विकास कर रही है।
    कार्यक्रम को लोकसभा सांसद श्री विक्रम उसेण्डी ने भी संबोधित किया तथा प्रतिवेदन कलेक्टर श्रीमती रानू साहू द्वारा प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर  आदिमजाति कल्याण मंत्री श्री केदार कश्यप, वन मंत्री एवं कांकेर जिले के प्रभारी मंत्री श्री महेश गागडा, विधायक श्री भोजराज नाग, मछुआ कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री भरत मटियारा, पूर्व विधायक श्रीमती सुमित्रा मारकोले एवं श्री मंतुराम पवार, नगर पंचायत नरहरपुर अध्यक्ष श्री भोपेश नेताम एवं जनपद अध्यक्ष श्रीमती कौशिल्या शोरी, बस्तर संभागायुक्त श्री धनंजय देवांगन, पुलिस महानिरीक्षक श्री विवेकानंद सिन्हा, मुख्य वनसंरक्षक श्री एच.एल रात्रे, पुलिस अधीक्षक श्री के.एल ध्रुव सहित जनप्रतिनिधिगण एवं वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
 

Source:Agency