Breaking News

Today Click 596

Total Click 4142877

Date 20-02-19

नीली रौशनी आपको बचा सकती है दिल की बीमारी से

By Mantralayanews :12-11-2018 08:29


आज के समय में दिल की बीमारी काफी बढ़ती जा रही है. जीवन शैली के बदलने से और रहन सहन में बदलवाव आने से दिल पर काफी असर पड़ता है. लेकिन एक अध्ययन में पाया गया है कि नीली रोशनी के संपर्क में रहने से रक्तचाप कम होता है जिससे हृदय रोग का खतरा भी कम हो जाता है. 'यूरोपीयन जर्नल ऑफ प्रीवेन्टेटिव कॉर्डियोलॉजी' में प्रकाशित अध्ययन के लिए प्रतिभागियों का पूरा शरीर 30 मिनट तक करीब 450 नैनोमीटर पर नीली रोशनी के संपर्क में रहा जो दिन में मिलने वाली सूरज की रोशनी के बराबर है.

इस शोध के दौरान दोनों प्रकाश के विकिरण के प्रभाव का आकलन किया गया और प्रतिभागियों का रक्तचाप, धमनियों का कड़ापन, रक्त वाहिका का फैलाव और रक्त प्लाज्मा का स्तर मापा गया. पराबैगनी किरणों के विपरीत नीली किरणें कैंसरकारी नहीं हैं. 

वहीं ब्रिटेन के सरे विश्वविद्यालय और जर्मनी के हेनरिक हैनी विश्वविद्यालय डसेलडार्फ के रिसर्च कर्ताओं ने पाया कि पूरे शरीर के नीली रोशनी के संपर्क में रहने के चलते प्रतिभागियों के सिस्टोलिक (उच्च) रक्तचाप तकरीबन 8 एमएमएचजी कम हो गया. बल्कि सामान्य रोशनी पर इस तरह का कोई प्रभाव नहीं पड़ा. नीले प्रकाश से रक्तचाप में कमी कुछ उसी प्रकार है जैसी दवाइयों के जरिये रक्तचाप को कम किया जाता है. इससे यही प्रतीत होता है शरीर के लिए नीली रौशनी बेहतर इससे आपको बीमारी का खतरा भी नहीं होता.
 

Source:Agency