Breaking News

Today Click 924

Total Click 4044748

Date 18-12-18

Ambikapur : मृत किसान के नाम पर खरीदा 1.18 लाख का धान

By Mantralayanews :01-12-2018 07:54


आरागाही । आदिम जाति सेवा सहकारी भंवरमाल समिति के प्रबंधक के द्वारा मृत व्यक्ति के नाम पर समर्थन मूल्य पर एक लाख 18 हजार रुपये की धान खरीदी कर ली गई। जब भुगतान राशि की सूची बैंक में पहुंची तो शाखा प्रबंधक के द्वारा जांच किए जाने पर स्पष्ट हुआ कि जिस किसान के नाम धान बेचा गया है,उसकी मौत हो चुकी है एवं खाता छह माह पूर्व ही बंद किया जा चुका है। जांच में स्पष्ट हुआ कि मृत किसान के नाम पर पुत्रों ने धान बेचा था। मामले में बैंक के शाखा प्रबंधक ने जानकारी उच्चाधिकारियों को भेज दी है।

रामानुजगंज के कृषि उपज मंडी प्रांगण में आदिमजाति सेवा सहकारी भंवरमाल समिति के अंतर्गत दर्जनों गांवों के किसानों का धान समर्थन मूल्य पर खरीदा जा रहा है। ग्राम कृष्णनगर के पंचानन सरकार पिता रामानंद सरकार की मृत्यु 18 जनवरी 2018 को हो चुकी है। मृतक के नाम से उसके पुत्रों के द्वारा भंवरमाल समिति में 15 नवंबर को एक लाख 18 हजार 44 रुपये का 123 बोरी धान बिक्री किया गया था।

बिक्री किए गए धान की राशि में से मृतक पर ऋण राशि का बकाया काट समिति के प्रबंधक सुदीप लकड़ा के द्वारा 95 हजार 754 रुपये का भुगतान करने हेतु जिला सहकारी केंद्रीय मर्यादित बैंक में धान खरीदी की सूची भेज दिया गया। जब बैंक मैनेजर शंकर राम भगत ने मृतक के खाते में जमा करना चाहा तो कृषक का खाता 21 जून 2018 को ही बंद हो चुका था।

जब ब्रांच मैेनेजर के द्वारा विस्तृत रूप से जांच की गई तो मृत व्यक्ति पंचानन सरकार के अनुपस्थिति में भंवरमाल समिति के प्रबंधक के द्वारा धान खरीदी करने का खुलासा हुआ,जिसे भंवरमाल समिति की लापरवाही मानी जा रही है।

पंजीयन करने के नाम पर खानापूर्ति-

शासन द्वारा तय नियमों के अनुरूप धान बिक्री के लिए किसानों का पंजीयन होना है एवं किसानों की शिनाख्त कर उनके द्वारा बोए गए फसल के रकबे की जांच कर किसानों की सूची जमा किया जाना था। इन नियमों की अनदेखी कर समितियों में सूची पहुंच गई। इस संबंध में भंवरमाल समिति प्रबंधक सुदीप लकड़ा ने कहा कि मृतक के पुत्र के द्वारा धान बिक्री हेतु लाया गया था और इनके द्वारा यह कहा गया कि मेरे पिता जिंदा हैं।

शाखा प्रबंधक ने लिखा पत्र-

जिला सहकारी केंद्रीय मर्यादित बैंक रामानुजगंज के शाखा प्रबंधक शंकर राम भगत ने कहा कि मेरे द्वारा मुख्य कार्यपालन अधिकारी अंबिकापुर को वित्तीय अनियमितता को लेकर पत्र लिखा गया है कि वर्ष 2018-19 में भंवरमाल समिति में खरीदी प्रभारी व प्राधिकृत अधिकारी के द्वारा मृत व्यक्ति पंचानन सरकार के खाते में धान खरीदी किया गया है।

ब्रांच में पंचानन सरकार का खाता 21 जून 2018 को पूर्ण प्रमाण के साथ बंद किया जा चुका है, परंतु समिति प्रबंधक द्वारा बिना किसान के उपस्थिति में खरीदी किया गया जो अनियमितताओं को दर्शाता है। इसकी सूचना कलेक्टर, जिला विपणन अधिकारी, संयुक्त पंजीयन सहकारी को भेजा गया है।
 

Source:Agency