Breaking News

Today Click 1102

Total Click 4037904

Date 12-12-18

Bhopal : मारपीट में छात्र का हाथ टूटा, स्कूल ने नहीं कराया इलाज

By Mantralayanews :04-12-2018 07:53


भोपाल। भेल स्थित विक्रम हायर सेकंडरी स्कूल के छठवीं के एक छात्र को शनिवार को उसकी कक्षा के छात्र के कहने पर सीनियर छात्रों ने पीट दिया। इससे उसका दाहिना हाथ दो जगह से फ्रैक्चर हो गया। वह दर्द से तड़पता रहा, लेकिन स्कूल प्रबंधन ने उसे वहीं बैठाए रखा और दो घंटे बाद उसके अभिभावकों को सूचना दी। इलाज इसलिए नहीं कराया गया, क्योंकि पीड़ित छात्र किसी भेल कर्मचारी का बेटा नहीं है।

छात्र के पिता हिमांशु यादव ने पिपलानी थाने में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ रविवार को एफआईआर दर्ज करा दी थी। जानकारी के मुताबिक पिपलानी स्थित विक्रम स्कूल में शनिवार को छठवीं के एक छात्र का विवाद उसी की कक्षा में दूसरे छात्र के साथ हो गया था। इस पर दूसरे छात्र ने सीनियर कक्षा के कुछ छात्रों को बुलाकर पीड़ित की पिटाई कर दी। इसमें छात्र का दाहिना हाथ दो जगह से फ्रैक्चर हो गया। इतना होने के बावजूद खेल टीचर ने घायल छात्र की मेडिकल सहायता करने की बजाय उसे स्पोर्ट्स रूम में बैठा दिया।

करीब दो घंटे बाद उसके पिता बीयू के कर्मचारी हिमांशु यादव को सूचना दी गई। शिक्षक ने बताया कि बच्चा खेलते समय गिर गया है। बीयू से स्कूल पहुंचने में हिमांशु को आधा घंटा लग गया। तब तक बच्चा दर्द से तड़पता रहा। जब हिमांशु पहुंचे तो बच्चे के सामने लंच कर रही टीचर ने बताया कि बच्चे को इसलिए अस्पताल नहीं पहुंचाया, क्योंकि भेल केवल अपने कर्मचारियों के बच्चों के इलाज का खर्च देता है। यदि हम इसे अस्पताल ले जाते तो हमें इलाज का खर्च उठाना पड़ता।

सीनियर छात्रों ने पीटा

मेरे बेटे को सीनियर छात्रों ने पीटा है, जिससे उसका हाथ टूट गया है। मेरे स्कूल पहुंचने तक बेटे को तड़पता छोड़ दिया गया था। हॉस्पिटल में भर्ती करने पर पता चला कि बच्चे का हाथ दो जगह टूट गया है। सोमवार को उसका मेजर ऑपरेशन किया गया है।

-हिमांशु यादव, छात्र का पिता

गंभीर चोट का पता नहीं था

बच्चों के विवाद में छात्र के भागने के दौरान टकराने से उसे चोट आई थीं। हमने उसके पिता को सूचना दी थी। उनके आने का इंतजार कर रहे थे, इसलिए अस्पताल नहीं ले गए। हमें यह पता नहीं चल पाया कि चोट इतनी गंभीर है।

-अरूंधति, स्पोर्ट्स टीचर, विक्रम हायर सेकेंडरी स्कूल, पिपलानी
 

Source:Agency