Breaking News

Today Click 1376

Total Click 4042630

Date 16-12-18

भारत, पाकिस्तान और इंग्लैंड हैं विश्व कप के 3 सबसे मजबूत दावेदार: इयान

By Mantralayanews :06-12-2018 08:22


लंदन: इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर इयान बेल ने अगले साल होने वाले विश्व कप के लिए अपने देश के अलावा भारत और पाकिस्तान को जीत का दावेदार बताया है.इयान बेल ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में 2015 में हुए विश्व कप में इंग्लैंड के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. हालांकि उनकी टीम इस विश्व कप में ग्रुप चरण से आगे नहीं बढ़ पाई थी. 

अगला वर्ल्ड कप 30 मई 2019 से इंग्लैंड में खेला जाना है. इस विश्व कप में दुनिया की टॉप-10 टीमें ही हिस्सा ले रही हैं. टूर्नामेंट में भारत का पहला मैच पांच जून को दक्षिण अफ्रीका से होगा. इंग्लैंड भी अपने अभियान की शुरुआत दक्षिण अफ्रीका के ही खिलाफ करेगा. यह मैच 30 मई को खेला जाएगा. पाकिस्तान का पहला मैच 31 मई को होगा. वह अपना अभियान वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू करेगा. 

भारत मजबूती से उभर रहा है
इयान बेल ने स्काई स्पोर्ट्स से कहा, ‘लोग कह रहे हैं कि वे (इंग्लैंड) विश्वकप का दावेदार है. लेकिन भारत इसमें बहुत मजबूती से उतरने जा रहा है. दूसरी तरफ जैसा कि हम पिछले साल चैंपियंस ट्रॉफी में देख चुके हैं कि पाकिस्तान की टीम बहुत खतरनाक है. उनकी टीम में कई सारे मैच जिताऊ खिलाड़ी हैं. ऐसे में मुझे लगता है कि यह विश्व कप काफी रोमांचक होने वाला है. लेकिन मैं कहूं तो मुझे इंग्लैंड, पाकिस्तान और भारत ही खिताब के दावेदार लग रहे हैं.’

पांचवीं बार मेजबानी करेगा इंग्लैंड 
इंग्लैंड की टीम पांचवीं बार विश्व कप की मेजबानी करने जा रही है. उसने पहले तीन विश्व कप (1975, 1979, 1983) की मेजबानी की थी. इसके बाद 1999 में भी इंग्लैंड में ही विश्व कप खेला गया. इस तरह वह सबसे अधिक बार विश्व कप की मेजबानी करने वाला देश है. हालांकि, उसके नाम अब तक एक भी खिताब नहीं है. वह तीन बार फाइनल में पहुंच चुका है. 

भारत ने दो, पाक ने एक खिताब जीता 
भारत और पाकिस्तान की बात करें तो ये दोनो ही देश विश्व कप जीत चुके हैं. भारत ने पहली बार 1983 में कपिल देव की कप्तानी और दूसरी बार 2011 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में विश्व कप जीता था. पाकिस्तान 1992 में इमरान खान की कप्तानी में विश्व चैंपियन बना था. वह 1999 में ऑस्ट्रेलिया से फाइनल हार गया था. भारत 2003 में फाइनल में पहुंचा था, लेकिन खिताब नहीं जीत सका था.
 

Source:Agency