Breaking News

Today Click 277

Total Click 4100614

Date 21-01-19

मानसून में 'जन्नत' देखनी है तो घूमने जायें भारत की इन 5 जगहों पर

By Mantralayanews :08-12-2018 09:20


मानसून मौसम ही ऐसा है की ट्रेवल लवर्स पुरे साल इस मौसम का इंतजार करते है क्योकि इस मौसम में घूमने का एक अलग ही मजा है. अगर आप भी कही घूमने जाने की प्लानिंग कर रहे है तो सोचिये मत सीधे अपना बैग पैक कीजिये क्योकि हम आपको देश की कुछ ऐसी जगह बता रहे है जहाँ आप बारिश का लुफ्त उठा सकते है.

दूधसागर
हमारे देश के यंगस्टर्स तो गोवा जाने के लिए हमेशा ही रेडी रहते है लेकिन मानसून में नहीं क्योकि लोग अक्सर गोवा को ऑफ सीजन बोलते है. पर ऐसा बिलकुल भी नहीं है अगर आप गोवा जाने की प्लांनिग कर रहे हैं तो गोवा का लुफ्त उठाने बिलकुल जाईये लेकिन समुद्री बीच पर नहीं बल्कि बारिश की फुहारों और ठंडी हवाओं के साथ साउथ गोवा और कर्नाटक बॉर्डर पर स्थित दूधसागर झरने का आनंद लें। जी हां ये वहीं झरना है जो फिल्म चेन्नई एक्सप्रेस में भी नजर आया था। घने जंगलो और हरियाली से घिरे दूधसागर को देखने के लिए जून से सितंबर के बीच काफी संख्या में लोग आते है. इस झरने की खास बात यह है की यदि इस झरने को दूर से देखे तो यह पहाड़ो से दूध का सागर बहता नजर आता है.

उदयपुर
यदि आपको पहाड़ो पर जाना नहीं पसंद है तो चिंता मत कीजिये क्योकि मानसून में उदयपुर घूमने का भी एक अलग ही मजा है. इस मौसम में उदयपुर की खूबसूरती और ज्यादा बढ़ जाती है. यहाँ आपको रंगीन राजस्थान की ख़ूबसूरती को देखने को मिलेगी ही साथ ही राजा महाराजाओ के महल भी आप यहाँ घूम सकते है, और हमारे की संस्कृति के साथ-साथ राजस्थान की रंगीन संस्कृति भी आपका मन मोह लेगी.

पुडुचेरी
यहाँ तो वैसे पुरे साल ही बारिश का मौसम बना रहता है लेकिन खासकर मानसून के मौसम में यहाँ की बारिश का अलग ही मजा है. पुडुचेरी की सैर आपके लिए बहुत ही यादगार और अनोखा पल साबित होगी. और साथ ही देश के बेस्ट टूरिस्ट प्लेसेस में से पुडुचेरी सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला स्थान है.

लोनावला
लोनावला जिसे भारत का स्विट्जरलैंड भी कहा जाता है , मानसून में यह स्थान लोगो का प्रिय है. बड़ी संख्या में पर्यटक यहाँ आकर मानसून का मजा उठाते है. लोनावला के पहाड़ और घाटियां देखने के लिए इससे बेहतर कोई और मौसम नहीं है. यह काफी उचाई पर स्थित है जिस वजह से नेचर को यहाँ बहुत ही पास से देखा जा सकता है. साथ ही यहाँ पर एक बहुत ही प्राचीन बौद्ध मंदिर है, कहते है कि इस मंदिर का निर्माण पत्थरों को काट कर किया गया था.

आगरा
कहते है कि मानसून के मौसम में रोमांटिक फीलिंग भी बढ़ने लगती है, तो फिर क्यों न इस मौसम में आगरा घूम आये, जहाँ सात अजूबों में से एक ताजमहल है जिसे प्यार कि निशानी भी कहा जाता है. ताजमहल के अलावा भी यहां कई किले और महल है. विदेशी टूरिस्ट आगरा जाना बहुत पसंद करते है.
 

Source:Agency