Breaking News

Today Click 563

Total Click 4154440

Date 18-03-19

रमाकांत आचरेकर से मेल खाती है सचिन और विराट की ये ट्रेजेडी

By Mantralayanews :03-01-2019 08:46


क्रिकेट के महान बल्लेबाजों में से एक सचिन तेंदुलकर ने अपने गुरु रमाकांत आचरेकर को खो दिया है. रमाकांत आचरेकर का बुधवार शाम निधन हो गया और गुरुवार को शिवाजी पार्क में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया. वो 87 साल के थे और काफी समय से बीमार थे. भारतीय क्रिकेट में कोच रमाकांत आचरेकर का योगदान कभी नहीं भूला जाएगा, क्योंकि उन्होंने इस देश को ऐसा खिलाड़ी दिया, जिसने पूरी दुनिया में भारतीय क्रिकेट का नाम रोशन किया.

सचिन जब 11 साल के थे तभी से रमाकांत आचरेकर ने उन्हें ट्रेनिंग देनी शुरू कर दी थी. सचिन के अंदर आचरेकर को एक अलग सी आग नजर आई थी जिसकी वजह से आचरेकर ने उन्हें ट्रेनिंग दी. वैसे आपको बता दें आचरेकर और सचिन की जिंदगी की एक ट्रेजडी मेल खाती है. और तो और टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के साथ भी कुछ वैसा ही हो चुका है जो आचरेकर और सचिन के साथ हुआ.

क्रिकेट के लिए सबकुछ कुर्बान!
दरअसल सचिन ने एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि एक दिन सुबह रमाकांत आचरेकर सर के परिवार में किसी की मौत हो गई थी. ऐसे में उनके कई स्टूडेंट्स संवेदना व्यक्त करने उनके घर गए लेकिन आचरेकर सर गायब थे. घर से पता चला कि आचरेकर प्रैक्टिस कराने के लिए मैदान गए हैं. परिवार में मौत के बावजूद मैदान पर बच्चों को क्रिकेट सिखाने का ये जुनून देख सचिन भी हैरान रह गए थे. वैसे रमाकांत आचरेकर के साथ जो वाकया हुआ, कुछ वैसा ही सचिन के साथ भी घटा. 1999 वर्ल्ड कप के दौरान जिम्बाब्वे के खिलाफ मैच से पहले सचिन के पिता की मौत हो गई. सचिन तुरंत इंग्लैंड से मुंबई लौटे, लेकिन अंतिम संस्कार के बाद वो एक बार फिर इंग्लैंड लौट आए और उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ शानदार सैकड़ा भी जड़ा.

विराट के साथ भी हुआ था ऐसा
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की लाइफ में भी कुछ ऐसा ही घटा था. 12 साल पहले विराट कोहली दिल्ली के लिए रणजी ट्रॉफी मैच खेल रहे थे तभी उन्हें पता चला कि उनके पिता की मौत हो गई है. विराट कोहली ने पिता के निधन के बावजूद कर्नाटक के खिलाफ रणजी मैच खेलने का फैसला लिया, क्योंकि उनकी टीम पर फॉलोऑन का खतरा था. विराट कोहली मैदान पर उतरे और उन्होंने 90 रन बनाकर अपनी टीम को फॉलोऑन से बचा लिया. इसके बाद उन्होंने अपने पिता का अंतिम संस्कार किया था.

Source:Agency