Breaking News

Today Click 2177

Total Click 4105384

Date 22-01-19

राजा दशरथ के महल में 10000 कमरे थे, किसमें पैदा हुए राम: अय्यर

By Mantralayanews :08-01-2019 07:51


विवादित बयानों से कांग्रेस नेतृत्व के लिए परेशानी पैदा करने वाले मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है. एक कार्यक्रम में मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि राजा दशरथ एक बहुत बड़े राजा थे, उनके महल में 10 हजार कमरे थे, लेकिन भगवान राम किस कमरे में पैदा हुए ये बताना बड़ा ही मुश्किल है. मणिशंकर अय्यर सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया द्वारा दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम 'एक शाम बाबरी मस्जिद के नाम' में शिरकत कर रहे थे.

मणिशकंर अय्यर ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा, " हम कहते हैं मंदिर आप जरूर बनाइए अयोध्या में, यदि आप चाहते हैं, लेकिन आप कैसे कह सकते हो कि मंदिर वहीं बनाएंगे...मंदिर वहीं बनाने का क्या मतलब बना...दशरथ एक बहुत बड़े महाराजा थे...कहा जाता है उनके महल में 10 हजार कमरे थे...कौन जानता है कि कौन सा कमरा कहां था...इसलिए ये कहना कि क्योंकि हम सोचते हैं कि हमारे भगवान राम यहीं पैदा हुए थे...इसलिए वहीं बनाना है...और क्योंकि एक मस्जिद है वहां, इसलिए हम उसके पहले तोड़ेंगे...और उसकी जगह हम बनाएंगे...हम ये कहें कि अल्लाह में भरोसा रखना कोई गलत चीज है एक हिन्दुस्तानी के लिए."

बता दें कि मणिशंकर अय्यर अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाते रहे हैं. पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ दिया गया उनका चायवाला बयान मीडिया में काफी चर्चित रहा था. 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले मणिशंकर अय्यर कांग्रेस की एक मीटिंग का जिक्र करते हुए कहा था कि अगर मोदी यहां चाय बेचने आते हैं तो कांग्रेस उनका स्वागत करेगी. नरेंद्र मोदी उस वक्त गुजरात के मुख्यमंत्री थे.
एक और घटनाक्रम में पीएम मोदी द्वारा जवाहर लाल नेहरु पर की गई टिप्पणी का जिक्र करते हुए  मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी के लिए असंसदीय शब्द का इस्तेमाल किया था. समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए पूर्व केन्द्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर ने कहा था, "ये आदमी बहुत #$%%& किस्म का आदमी है, इसमें कोई सभ्यता नहीं है...और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की कोई आवश्यकता नहीं है." हालांकि राहुल गांधी की फटकार के बाद मणिशंकर अय्यर ने तुरंत अपने बयान के लिए माफी मांगी थी. बीजेपी भी अय्यर के बयानों पर हमलावर रही है.
 

Source:Agency