Breaking News

Today Click 783

Total Click 4158128

Date 23-03-19

मेरे बयान पर सवाल खड़े करना गलत और गुमराह करने वाली बात: रक्षा मंत्री

By Mantralayanews :08-01-2019 07:57


रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के साथ 2014 से 2018 के दौरान 26 हजार करोड़ रुपए से अधिक के करार पर हस्ताक्षर किए हैं और 73 हजार करोड़ रुपए के ठेके पाइपलाइन में हैं, इसलिए लोकसभा में दिए उनके बयान पर संदेह करना ‘गलत और गुमराह’ करने वाली बात है.

लोकसभा में शून्यकाल शुरू होने पर अपने बयान में निर्मला ने कहा कि उनके बयान की पुष्टि खुद एचएएल की ओर से की गई है. उन्होंने कहा कि 2014 से 2018 के दौरान एचएएल ने 26570.8 करोड़ रुपए के करार पर हस्ताक्षर किए हैं और 73,000 करोड़ रुपए के करार पाइपलाइन में हैं. इस तरह से एचएएल के पास कुल एक लाख करोड़ रुपए के ठेके हैं.

मंत्री ने कहा कि चार जनवरी को राफेल मामले पर चर्चा का जवाब देते हुए एचएएल को मिले कॉन्ट्रैक्ट के बारे में जो बात की थी, उसकी पुष्टि खुद एचएएल की तरफ से की गई है. उन्होंने कहा, ‘मेरे चार जनवरी के बयान को लेकर संदेह खड़े करना गलत और गुमराह करने वाली बात है.’ रक्षा मंत्री के बयान के दौरान कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा किया और गलतबयानी का आरोप लगाया.

इस दौरान कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल ने कहा कि हमने सदन को गुमराह करने को लेकर रक्षा मंत्री मंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दे रखा है. इस पर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि यह नोटिस उनके विचाराधीन है. गौरतलब है कि सीतारमण का यह बयान उस वक्त आया है जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि रक्षा मंत्री ने एचएएल को मिले करार के बारे में सदन के भीतर झूठ बोला.
 

Source:Agency