Breaking News

Today Click 486

Total Click 4154363

Date 18-03-19

मुंह में रखी पिन श्वास नली में पहुंची, डॉक्टरों ने बिना सर्जरी निकाली

By Mantralayanews :08-01-2019 08:31


भोपाल। काम के दौरान आप कई ऐसी चीजें मुंह में रख लेते हैं, जो आपकी श्वास नली, फेफड़े या आंतों में पहुंचकर बड़ा नुकसान कर सकती हैं। यह लापरवाही मौत के मुंह तक पहुंचा सकती है। इसी तरह की लापरवाही का एक मामला सोमवार को हमीदिया अस्पताल में आया। शहडोल के रहने वाले 16 साल के अफजल ने 2 जनवरी को पढ़ाई के दौरान नोटिस बोर्ड में लगाने वाली पिन मुंह में रख ली। सांस लेते ही पिन श्वास नली में पहुंच गई। सोमवार को हमीदिया अस्पताल के नाक, कान एवं गला विभाग के डॉक्टरों ने बिना सर्जरी यह पिन निकाल ली।

हमीदिया अस्पताल के नाक, कान एवं गला विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. यशवीर जेके ने बताया कि पिन गुटकने के बाद परिजन दो दिन तक इंतजार करते रहे कि शौच के दौरान पिन निकल जाएगी। पिन नहीं निकली और युवक को सांस लेने में तकलीफ होने लगी तो उसे शहडोल मेडिकल कॉलेज लेकर गए। यहां डॉक्टरों ने एक्सरे किया तो पता चला कि पिन श्वास नली में फंसी हुई है। शहडोल के डॉक्टरों ने उसे हमीदिया रेफर कर दिया। यहां डॉ. यशवीर जेके ने डॉ. स्मिता सोनी व एनेस्थीसिया विशेषज्ञ डॉ. एस रायकवार व डॉ. नीलेश नेमा की मदद से वीडियो असिस्टेड ऑप्टिकल ब्रांकोस्कोप के जरिए पिन निकाली। इसमें आधे घंटे लगे। सांस नहीं पहुंच पाने की वजह से मरीज के फेफड़े को भी नुकसान हुआ है। लिहाजा, इसके इलाज के लिए मरीज को अभी तीन दिन अस्पताल में रखा जाएगा।

श्वास नली में चुभ गई थी पिन

डॉ. यशवीर ने बताया कि पिन का नुकीला हिस्सा सांस नली में चुभ गया था। लिहाजा निकालने में मुश्किल हो रही थी। ब्रांकोस्कोप से पहले पिन को नीचे किया गया। इसके बाद निकाला गया। उन्होंने बताया कि यह काम काफी मुश्किल भरा था। वजह, उसी श्वास नली से मरीज को बेहोश करना पड़ता है। साथ ही उसी नली से ब्रांकोस्कोप डालकर सुई निकालने की चुनौती थी।
 

Source:Agency