Breaking News

Today Click 281

Total Click 4100618

Date 21-01-19

वृद्धा को कार में बैठाकर उसके घर पहुंचे दबंग एसपी, फिर बेटों को फटकार

By Mantralayanews :09-01-2019 08:32


जबलपुर । जनसुनवाई में आने वाले बुजुर्गों की शिकायत को न केवल गंभीरता से सुना जा रहा है, बल्कि ऑन स्पॉट एक्शन भी लिया जा रहा है। मंगलवार को एसपी ऑफिस में कुछ ऐसा ही नजारा देखा गया। बेटे की प्रताड़ना से परेशान एक वृद्ध के बयान दर्ज कराने के लिए एसपी अमित सिंह ने थाना प्रभारी को कार्यालय बुला लिया। एक अन्य मामले में अपने दो बेटों से प्रताड़ित वृद्धा को अपनी गाड़ी में बैठाकर उसके घर पहुंच गए। एसपी ने वृद्धा के बेटों को जमकर फटकार लगाई।

घर पहुंचकर बेटों से माफी मंगवाई, तत्काल दिलाए 5 हजार रुपए

सर्वोदय नगर स्कूल के पीछे घमापुर में रहने वालीं वृद्धा मीरा कोरी को साथ लेकर एसपी उनके घर पहुंच गए। वृद्धा ने शिकायत की थी कि बेटों की प्रताड़ना से वह तंग आ चुकी है। उसे घर से निकाल दिया गया है और एक सप्ताह से दर-दर की ठोकरें खा रही है। बेटे न नकद पैसे देते हैं न ही अन्य सुविधाएं। शिकायत सुनने के बाद एसपी तंग गलियों से होते हुए वृद्धा को लेकर उसके घर पहुंच गए।

लापरवाह दोनों बेटों को मां की हालत के लिए जमकर फटकार लगाई। इस दौरान दोनों बेटे हाथ जोड़ते रहे। एसपी ने अपने सामने वृद्धा को बेटों से भरणपोषण के लिए 5 हजार रुपए दिलाए। अपना मोबाइल नंबर देते हुए कहा कि यदि बेटे फिर परेशान करें तो एसपी ऑफिस आने की जरूरत नहीं, वह सीधे फोन कर उन्हें बुला सकती हैं।

गरीब नवाज कमेटी ने की मदद

संजय गांधी वार्ड सर्वोदय स्कूल के समीप निवासी मीरा कोरी की गरीब नवाज कमेटी के सदस्यों ने सहारा दिया। कमेटी के इनायत अली ने बताया कि मीरा कोरी (60) को बेटे-बहू ने घर से निकाल दिया था। वह जहां-तहां भटकती रहती थीं। इस बीच कमेटी के सदस्यों ने उनके भोजन का प्रबंध किया। वृद्धा ने बताया कि बेटे व बहू उनकी पेंशन की रकम तक छीन लेते थे।

टीआई को बुला ऑफिस में लिखवाए वृद्ध के बयान

बेटे ने मारपीट कर वृद्ध पिता को घर से भगा दिया। चलने-फिरने व सुनने में असमर्थ वृद्ध अब बेटी की ससुराल में रहने को मजबूर हैं। मंगलवार को मिट्ठू चौधरी (95) निवासी बड़ा पत्थर झंडाचौक रांझी बाबाटोला निवासी बेटी पार्वती के साथ एसपी ऑफिस पहुंचे। उन्होंने बेटे की करतूत बताते हुए कहा कि उनका पक्का मकान बेचकर बेटे ने मारपीट की और घर से निकाल दिया। वे लिखने-पढ़ने में असमर्थ हैं और अब सुनाई भी नहीं देता। यह सुनते ही एसपी ने रांझी टीआई मंजीत सिंह को कार्यालय बुलाकर बयान दर्ज कराए और कार्रवाई के निर्देश दिए। पार्वती बाई ने बताया कि पिता द्वारा बनाया गया मकान उसके भाई ने बेचकर लाखों रुपए हड़प लिए। उनके दूसरे मकान पर कब्जा जमाते हुए घर से भगा दिया। कई दिनों से पिता उसके साथ रह रहे हैं। आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण वह पिता का इलाज कराने में असमर्थ है।
 

Source:Agency